कोरोना वायरस संक्रमण : सुरंगों और चैनलों से नहीं होता विसंक्रमण

स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने से केंद्र सरकार ने दिए बंद करने के निर्देश, कर्नाटक सरकार को अभी तक सुध नहीं

By: Sanjay Kumar Kareer

Published: 23 Apr 2020, 11:11 PM IST

बेंगलूरु. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हर दिन कई तरह के उपाय किए जा रहे हैं। विसंक्रमण सुरंगों का निर्माण भी इनमें से एक है। लेकिन, केंद्र सरकार ने एक परामर्श जारी कर राज्यों से कहा है कि वे तत्काल प्रभाव से ऐसी सुरंगों या चैंबर्स को बंद कराएं क्योंकि इनसे विसंक्रमण नहीं उल्टे, यह स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हैं।

सरकार ने शहर में सार्वजनिक स्थानों और कंटेनमेंट एरिया को विसंक्रमित कराने के लिए रसायन का छिड़काव शुरू कराया तो कुछ लोगों ने इसे इंसानों को भी विसंक्रमित करने के लिए उपयोग करना शुरू कर दिया है। बेंगलूरु सहित राज्य के कई शहरों में कथित विसंक्रमण सुरंगें बनाई गई हैं। इनमें रसायन (मुख्यत: सोडियम हाइपोक्लोराइट) का छिड़काव किया जाता है। सुरंग से होकर गुजरने वाले पर इसे स्प्रे करने से विसंक्रमित होने का दावा किया जा रहा था।

केंद्र की ओर से जारी निर्देश में साफ कहा गया है कि स्वास्थ्य संस्थाओं और कार्यालयों में डिसइन्फैक्शन टनल या चैनल नहीं बनाए जाएं। टनल या चैबंर में सैनेटाइजेशन के लिए सोडियम हाइपोक्लोराइट या अल्कोहल का छिड़काव किया जाता है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन की एडवाइजरी के अनुसार यह छिड़काव इंसानों के लिए नुकसानदेह है। इससे हाथ, आँख में जलन, गले में खराश, स्किन एलर्जी, उल्टी और फेफड़ों में ब्रान्कोस्पास्म जैसे लक्षण उभर सकते हैं। यह कपड़ो या शरीर का विसंक्रमण भी नहीं कर पाता है।

एडवाइजरी में कहा गया है कि यह टनल या चैबंर, उपयोगकर्ता को झूठी सुरक्षा का आश्वासन देता है। परिणाम स्वरूप लोग हाथ धोने और सोशल डिस्टैंसिंग जैसे प्रोटोकॉल का पालन करने मे चूक कर बैठते हैं। बेहतर होगा कि अस्पताल व अन्य संस्थाएं इस तरह के डिसइन्फैक्शन टनल अथवा चैनल का उपयोग नहीं करें और लोगों को बार-बार हाथ धोने और सोशल डिस्टैंसिंग का सख्ती से पालन करें।

केंद्र सरकार की एडवाइजरी जारी होने के बाद कई राज्य सरकारों ने इसे फौरन बंद करवा दिया। इसके बावजूद कर्नाटक सरकार को अभी तक इस पर कोई एक्शन लेने की सुध नहीं आई है और राज्य में कई जगहों पर ऐसी सुरंगें और चैंबर अभी भी काम कर रहे हैं। कई जगहों पर तो मंत्रियों ने इनका बाकायदा उदघाटन किया और दूसरी जगहों पर भी इन्हें लगवाने का आश्वासन लोगों को दिया।

Corona virus
Sanjay Kumar Kareer Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned