जिलाधिकारी ने किया सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल का दौरा

जिलाधिकारी ने किया सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल का दौरा

Shankar Sharma | Updated: 12 Jun 2019, 11:54:28 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

कर्नाटक सरकार की ओर से मौजूदा वर्ष से आरम्भ किए गए सरकारी अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है।

धारवाड़. कर्नाटक सरकार की ओर से मौजूदा वर्ष से आरम्भ किए गए सरकारी अंग्रेजी मीडियम स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके चलते जिलाधिकारी दीपा चोळन ने सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल का दौरा कर जायजा लिया।
उन्होंने आलूरु वेंकटराव सर्कल की महिला शिक्षकों के प्रशिक्षण स्कूल परिसर स्थित सरकारी उर्दू प्राथमिक स्कूल में शुरू किए गए सरकारी अंग्रेजी मीडियम स्कूल का दौरा किया।


जिलाधिकारी ने प्रथम कक्षा के लिए प्रवेश प्राप्त विद्यार्थियों के साथ शिक्षकों के पाठ तथा दिनचर्या के बारे में पूछताछ की। स्कूल की मुख्य अध्यापिका एसएम खान तथा सह शिक्षिका बीएस यरगट्टी व क्यू.ए. तरगार ने जानकारी दी।


इसके बाद कमलापुर के सरकारी माडल कन्नड़ प्राथमिक स्कूल संख्या 4 में आरम्भ हुई अंग्रेजी मीडियम स्कूल का दौरा कर विद्यार्थियों, शिक्षकों तथा अभिभावकों से स्कूल के बारे में जानकारी प्राप्त की। मुख्य अध्यापिका एसडी इलकल तथा सह शिक्षिका आरएस सक्करनायकर ने विद्यार्थियों के प्रवेश, दाखिले के बारे में जानकारी दी।


समीक्षा के बाद जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा कि अंग्रेजी मीडियम के लिए प्रथम कक्षा को प्रवेश प्राप्त बच्चों को पाठ्यपुस्तक आने तक दूसरे पुस्तकों का इस्तेमाल कर सामान्य जानकारी देनी चाहिए। अंग्रेजी मीडियम के लिए प्रवेश पाने वाले बच्चों के पाठ्यपुस्तकें कन्नड़ तथा अंग्रेजी भाषा समेत द्विभाषा में होती है। बच्चों को पढ़ाने, लिखाने में यह अभिभावकों के लिए मददगार होगा। इस बारे में अभिभावकों को जानकारी देने के सार्वजनिक शिक्षा विभाग के उपनिदेशक को निर्देश दिए।


जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा कि प्रथम कक्षा को विद्यार्थियों की पढ़ाई की खातिर सरल विषय कन्नड़ या फिर उर्दू (उर्दू स्कूलों में आरम्भ हुए अंग्रेजी मीडियम विद्यार्थियों को), पर्यावरण अध्ययन, सरल गणित तथा अंग्रेजी पाठ्यपुस्तकें दी जा रही हैं। कुल चार पाठ्य हैं।

पढ़ाने के लिए सक्षम शिक्षकों को नियुक्त किया गया है। नए अंग्रेजी मीडियम स्कूलों को मौजूदा प्राथमिक स्कूलों में ही आरम्भ किया गया है। किसी भी स्कूल को बंद नहीं किया जाएगा। अंग्रेजी भाषा सीखने के इच्छुक विद्यार्थियों की सुविधा के लिए सरकार अंग्रेजी मीडियम स्कूलों को आरम्भ किया है। सभी विद्यार्थियों को कोई शुल्क नहीं है। नि:शुल्क पाठ्यपुस्तक, यूनिफार्म, जूते, मौजे दिए जा रहे हैं। इस अवसर पर शहर क्षेत्र शिक्षाधिकारी एए काजी, उपनिदेशक कार्यालय अधिकारी शिवलीला कलसन्नवर उपस्थित थे।


जिले में 28 अंग्रेजी मीडियम स्कूल
जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा कि धारवाड़ जिले में 28 अंग्रेजी मीडियम स्कूलों को आरम्भ किया गया है। हर विधानसभा क्षेत्र के लिए चार स्कूलों को मंजूरी दी गई है। स्कूलों में मूलभूत सुविधाओं को ध्यान में रखकर प्रथम कक्षा के लिए न्यूनतम 15 से अधिकतम 52 विद्यार्थियों के प्रवेश की अनुमति है परन्तु अधिक संख्या में विद्यार्थियों के प्रवेश की खातिर आवेदन सौंपे जा रहे हैं। कुल 8 40 विद्यार्थियों को मात्र प्रवेश प्राप्त करने के लिए मौैजूदा वर्ष में मौका है। कुल 48 अंग्रेजी सह शिक्षक, शिक्षिकाओं को डायट में प्रशिक्षण देने के जरिए अंग्रेजी मीडियम स्कूलों के लिए शिक्षकों को तैयार किया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned