जिला अधिकारी ने किया क्वारंटाइन सेन्टर का निरीक्षण

अधिकारियों को दिए दिशा निर्देश

By: Yogesh Sharma

Published: 24 May 2020, 12:31 PM IST

मंड्या. जिलाधिकारी एम.वी. वेंकटेश ने पांडवपुरा तहसील के संतेबाचणहल्ली होबली के चीलकुरली एरिया का जायजा लिया। उन्होंने सील एरिया में रहने वाले लोगों से मुलाकात कर कहा कि उनको किसी भी वस्तु की आवश्यकता पडऩे पर पुलिस को फोन मंगवाएं। जिलाधिकारी ने पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि राज्य सरकार के आदेश के बाद महाराष्ट्र से कर्नाटक में आने पर पाबंदी लगा दी गई है। केआरपेट व नागमंगला तहसील में बड़ी संख्या कन्नड़ प्रवासी मुंबई में रहते हैं। उनके पास रोजगार नहीं होने के कारण वे अपने पैतृक गांव आने चाहते हैं। लेकिन मुंबई में कन्नड़ प्रवासियों को उतावला नहीं कर उनको धैर्य रखना होगा। मुंबई से लाने से पहले जिला प्रशासन द्वारा क्वारंटाइन करने की व्यवस्था करना भी जरूरी है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में रहने वाले मुंबई प्रवासियों के रिश्तेदार का कर्तव्य बनता है कि उनको समझाकर ठहरने को कहें। अनुमति के बिना पैतृक गांव नहीं आए। वही मंत्री एस.टी. सोमशेखर ने भी पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि मंड्या जिले में केआरपेट व नागमंगला तहसील में कोरोना पांजिटिव बढऩा चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक व महाराष्ट्र चैक पोस्ट पर कडी नजर रखनी होगी। बिना अनुमति के कोई महाराष्ट्र से नहीं आए। क्योंकि मंड्या जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है।
क्वारंटाइन में गंदगी
केआरपेट तहसील स्थित मोराजी देसाई स्कूल भवन जो क्वारंटाइन बना हुआ है। यहां महाराष्ट्र से आए लोगों को रखा गया है। सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए कहने पर ये लोग अधिकारियों से झगड़ रहे हैं। क्वारंटाइन व्यवस्था संभालने वाले एक अधिकारी ने बताया कि क्वारंटाइन में रहने वाले लोग खाने पार्सल कवर व बचा हुआ भोजन कचरे पात्र में नहीं डालकर इधर-उधर फेंक कर गंदगी कर रहे हंै। उनको मना करने पर ध्यान ही नही दे रहे हैं।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned