डीके बंधुओं ने लगाए ईडी के दुरुपयोग का आरोप, येड्डियूरप्पा का पलटवार

डीके बंधुओं ने लगाए ईडी के दुरुपयोग का आरोप, येड्डियूरप्पा का पलटवार

Kumar Jeevendra | Publish: Sep, 09 2018 06:13:20 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

विवाद: सुरेश ने मांगी मोदी से मदद, भाजपा ने कथित पत्र को बताया फर्जी

बेंगलूरु. राज्य के वरिष्ठ मंत्री और कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार के ठिकानों पर साल भर पहले हुई आयकर छापेमारी को लेकर राजनीति फिर से गरमा गई है। पिछले सप्ताह भर से राजनीतिक हलकों में छापेमारी के दौरान शिवकुमार के दिल्ली के मकान से नकदी की बरामदगी के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने की चर्चा तैरती रही है लेकिन शनिवार को शिवकुमार के भाई और बेंगलूरु ग्रामीण क्षेत्र से लोकसभा सदस्य डी के सुरेश ने भाजपा पर बदले की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार उन्हें और शिवकुमार को परेशान करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। सुरेश ने ईडी के गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी दखल देने की मांग की और कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री से मुलाकात के लिए वक्त मांगा है। सुरेश ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डियूरप्पा का एक कथित पत्र भी जारी किया। इस पत्र में जनवरी 2017 में आयकर विभाग से डीके बंधुओं के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है। हालांकि, सुरेश के संवाददाता सम्मेलन के कुछ ही घंटे बाद प्रदेश भाजपा ने उस पत्र को फर्जी करार देते हुए डीके बंधुओं पर मामले से ध्यान हटाने के लिए आधारहीन बातें फैलाने का आरोप लगाया। गौरतलब है कि पिछले साल अगस्त में आयकर विभाग ने शिवकुमार व उनके सहयोगी के ठिकानों पर छापे मारे थे। उस वक्त राज्यसभा चुनाव से पहले शिवकुमार की मेजबानी में ही गुजरात के ४० से अधिक कांग्रेस विधायक बेंगलूरु में ठहरे हुए थे।

सुरेश का जारी किया पत्र फर्जी: भाजपा
सुरेश के येड्डियूरप्पा के कथित पत्र को जारी करने के कुछ ही देर बाद भाजपा ने इसे फर्जी करार दिया। प्रदेश भाजपा ने ट्वीट कर कहा कि अब कांग्रेस का झूठ सामने आ गया है। भाजपा ने कहा कि सुरेश और मंत्री डी के शिवकुमार अपने मामले से लोगों का ध्यान हटाने के लिए ऐसी झूठी बातें प्रचारित कर रहे हैं। भाजपा ने कहा कि येड्डि ने ऐसा कोई पत्र नहीं लिया। भाजपा ने लेटरहैड पर येड्डियूरप्पा के पदनाम और पते को लेकर भी सवाल उठाए।

Ad Block is Banned