वेंकटेशमूर्ति होंगे कलबुर्गी कन्नड़ साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष

अगले वर्ष फरवरी में जिला मुख्यालय कलबुर्गी में होने वाले 85वें अखिल भारतीय कन्नड़ साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष पद के लिए साहित्यकार, विमर्शक तथा कवि डॉ. एचएस वेंकटेशमूर्ति का चयन किया गया है। कन्नड़़ साहित्य परिषद के अध्यक्ष मनु बालिगार के अनुसार बुधवार को कन्नड़ साहित्य परिषद की कार्यकारिणी समिति की बैठक में यह फैसला किया गया है।

बेंगलूरु. अगले वर्ष फरवरी में जिला मुख्यालय कलबुर्गी में होने वाले 85वें अखिल भारतीय कन्नड़ साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष पद के लिए साहित्यकार, विमर्शक तथा कवि डॉ. एचएस वेंकटेशमूर्ति का चयन किया गया है। कन्नड़़ साहित्य परिषद के अध्यक्ष मनु बालिगार के अनुसार बुधवार को कन्नड़ साहित्य परिषद की कार्यकारिणी समिति की बैठक में यह फैसला किया गया है।
मनु बालिगार के अनुसार कलबुर्गी में 5 से 7 फरवरी तक सम्मेलन होगा, इसकी तैयारियां चल रही हैं। गुलबर्गा विवि के कैंपस स्थित महात्मा गांधी तथा डॉ. अंबेडकर सभागार में कई कार्यक्रम होंगे। सम्मेलन में 12 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है, राज्य सरकार से 10 करोड़ की मांग की गई है। शेष राशि प्रतिनिधियों के शुल्क तथा दानदाताओं से जुटाई जाएगी।
सम्मेलन के सफल आयोजन के लिए उप मुख्यमंत्री तथा जिला प्रभारी गोविंद कारजोल की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया गया है। साहित्य परिषद की विभिन्न इकाइयों के 15 हजार से अधिक प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।
उल्लेखनीय है कि कलबुर्गी में तीसरी बार अखिल भारतीय कन्नड़ साहित्य सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इससे पहले यहां 1928 में 14वें तथा 1948 में 32वें संस्करण का आयोजन हो चुका है।

Sanjay Kulkarni
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned