डॉ. की आत्महत्या का मामला: चिकित्सकों का प्रदर्शन खत्म

सोमवार से काम पर लौटेंगे

By: Santosh kumar Pandey

Published: 23 Aug 2020, 03:57 PM IST

बेंगलूरु. मैसूरु जिले में एक चिकित्सक की आत्महत्या (Mysuru doctor's suicide) के बाद आईएएस अधिकारी प्रशांत कुमार मिश्र को निलंबित किए जाने की मांग को लेकर तीन दिन से प्रदर्शन कर रहे चिकित्सकों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया है। चिकित्सकों ने कहा है कि वे सोमवार से काम पर लौटेंगे।

बता दें कि चिकित्सक नंजनगुड तालकु के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस आर नागेन्द्र की आत्महत्या के बाद से ही विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

यह खबर भी पढि़ए: कोरोना वॉरियर की आत्महत्या की पूरी खबर

डॉ. की आत्महत्या के बाद एक ऑडियो वायरल हुआ था जिसके आधार पर यह आरोप लगाया जा रहा था कि डॉ. ने वरिष्ठ अधिकारियों की प्रताडऩा से तंग आकर आत्महत्या की थी।

आरोपी अधिकारी मिश्र का तबादला

मालूम हो कि आरोपों से घिरे जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रशांत कुमार मिश्र का तबादला कर दिया गया है। सरकारी स्वास्थ्य अधिकारी एसोसिएशन, मैसूरु के अध्यक्ष डॉ. देवी आनंद ने कहा कि हम सीईओ के तबादले का स्वागत करते हैं लेकिन हमारी मांग है कि उन्हें निलंबित किया जाए। उन्होंने बताया कि चिकित्सक सोमवार से काम पर लौटेंगे।

किसी अनुभवी को बनाएं नोडल अधिकारी

इसी बीच, चिकित्सकों की मांग है कि किसी आईएएस या केएएस अधिकारी को नोडल अधिकारी का जिम्मा नहीं दिया जाना चाहिए। चिकित्सा क्षेत्र के किसी अनुभवी अधिकारी की ही नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्ति होनी चाहिए और चिकित्सकों के काम में दखलंदाजी नहीं होनी चाहिए।

Corona virus COVID-19 virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned