सूखा अध्ययन दल एक सप्ताह में सौंपेगा रिपोर्ट

सूखा अध्ययन दल एक सप्ताह में सौंपेगा रिपोर्ट

Ram Naresh Gautam | Publish: Nov, 18 2018 06:50:57 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

केंद्रीय दलों ने कोलार, हुब्बल्ली और कलबुर्गी का किया दौरा

हुब्बल्ली. केन्द्रीय वरिष्ठ अधिकारी तथा सीपीडीओटीआई के निदेशक डॉ. महेश कुमार ने कहा है कि जिले में सूखे के हालात का अध्ययन कर लिया गया है।

राष्ट्रीय प्राकृतिक आपदा राहत सूत्रों के अनुसार एक सप्ताह में यह अध्ययन रिपोर्ट केन्द्र सरकार को सौंप देगा। केंद्रीय दल के अन्य अधिकारियों ने कोलार और कलबुर्गी जिलों का दौर वहां की रिपोर्ट जुटाई है।

डॉ. महेश कुमार के नेतृत्व में सीडब्लूसी के निदेशक ओआरके रेड्डी तथा ग्रामीण विकास विभाग की नीता टहलानी, यू.एस. अधिकारियों के अध्ययन दल ने शनिवार को धारवाड़ जिले के हुब्बल्ली तालुक के शिरगुप्पी स्थित खेतों में किसानों से जानकारी हासिल की।

पत्रकारों से बातचीत में डॉ. महेश ने कहा कि आगामी सोमवार को राज्य के सभी अध्ययन दलों की सभा बेंगलूरु स्थित विधानसौधा में होगी।

अध्ययन दल ने हुब्बल्ली तालुक के शिरगुप्पी के खेतों में सूखे के कारण हरी मिर्च, कपास आदि फसल तबाही की समीक्षा की। बाद में किसानों से जानकारी प्राप्त की। दल ने नलवडी में कृषि के लिए खेतों में निर्मित तालाब का निरीक्षण किया।

वहां पर सूखे से निपटने के लिए तैयार की गई योजना की सराहना की। नलवडी गांव के वरिष्ठ किसान अशोक रामप्पा मुदरड्डी ने किसानों की विभिन्न समस्याओं के बारे में अध्ययन दल को विस्तार से बताया।

बाद में किसान अशोक ने अधिकारियों को हाथ जोड़ कर मुआवजे की मांग की। इस दौरान उनकी आंखों में आंसू भी आ गए।

 

दौरे की रस्म अदायगी पर किसानों में आक्रोश
केंद्रीय दल की ओर से धारवाड़ जिले के सूखाग्रस्त क्षेत्रों के दौरे की रस्म अदायगी को लेकर स्थानीय किसानों ने आक्रोश व्यक्त किया है।

इस दल ने सूखाग्रस्त क्षेत्र के दौरे के नाम पर हुब्बली तहसील के शिरगुप्पा, नवलगुंद तहसील के नलवडी, अण्णीगेरे, बस्सापुर, अमरगोल, अलगेवाडी गांवों का दौरा किया लेकिन इन गांवों के खेतों में अधिकारी एक मिनट भी नहीं ठहरे ना किसी किसान से बात की। गत वर्ष भी केंद्रीय दल के अधिकारियों ने इन्हीं गांवों का दौरा किया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned