scriptEducation system based on practicality is the need of the hour: CM | व्यवहारिकता पर आधारित शिक्षा प्रणाली समय की मांग: सीएम | Patrika News

व्यवहारिकता पर आधारित शिक्षा प्रणाली समय की मांग: सीएम

  • वर्तमान युग में तीव्र परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के लिए व्यहारिक शिक्षा प्रणाली समय की मांग

बैंगलोर

Updated: December 23, 2021 11:18:51 am

बेलगावी. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Chief Minister Basavaraj Bommai) ने व्यवहारिकता पर आधारित शिक्षा प्रणाली पर जोर देते हुए कहा कि अभी पढ़ाए जा रहे पाठ्यक्रमों और दुनिया की व्यवहारिक जरूरतों में बहुत बड़ा अंतर है। विद्यार्थियों की वर्तमान पीढ़ी को आत्मविश्वास और साहस के साथ चुनौतियों का सामना करने के लिए ज्ञान की शक्ति की आवश्यकता है। वर्तमान युग में तीव्र परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के लिए व्यहारिक शिक्षा प्रणाली समय की मांग है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy - एनइपी) इस अंतर को पाटने के साथ ही विद्यार्थियों को सशक्त बनाएगा।

व्यवहारिकता पर आधारित शिक्षा प्रणाली समय की मांग: सीएम

वे बुधवार को हिरेबागवाड़ी में रानी चेन्नम्मा विश्वविद्यालय भवन परिसर की आधारशिला रखने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों को केवल डिग्री देने का केंद्र नहीं बनना चाहिए बल्कि नवाचार, प्रयोग और केंद्रों के रूप में विकसित होना चाहिए। उन्होंने विश्वविद्यालयों में तार्किक सोच विकसित करने और सीखने के लिए एक अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र बनाने पर भी जोर दिया।

उन्होंने कहा कि कित्तूर रानी चेन्नम्मा (Rani Chennamma) ने बड़े साहस और आत्मविश्वास के साथ अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी और पहली महिला स्वतंत्रता सेनानी के रूप में इतिहास रचा। संगोली रायण्णा ने भी अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने विश्वविद्यालय को शिक्षा प्रणाली में बदलाव लाने में सक्षम बनाने के लिए राज्य सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

विद्यार्थियों ने किया मुख्यमंत्री की कार का घेराव

बेलगावी. विद्यार्थियों के एक समूह ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के कार का घेराव किया और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। मुख्यमंत्री बुधवार को रानी चेन्नम्मा विश्वविद्यालय भवन परिसर की आधारशिला रखने पहंचे ही थे कि विद्यार्थियों ने उनके कार को घेर लिया। विद्यार्थी लैपटॉप नहीं मिलने से नाराज थे।

विद्यार्थियों के अनुसार सरकार ने विद्यार्थियों के लिए नि:शुल्क लैपटॉप योजना की घोषणा की थी। लेकिन, एक वर्ष बाद भी लैपटॉप नहीं मिल पाया है। विद्यार्थियों को प्रोजेक्ट और असाइनमेंट पूरा करने के लिए लैपटॉप की जरूरत है। विद्यार्थियों ने छात्रावास सुविधा, शिक्षकों की नियुक्ति व छात्रवृत्ति की मांग भी की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.