गलतियां कम करने का प्रयास करना चाहिए-आचार्य महेन्द्रसागर

धर्मसभा का आयोजन

By: Yogesh Sharma

Published: 20 Sep 2021, 07:55 AM IST

बेंगलूरु. महावीर स्वामी जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक संघ त्यागराज नगर में विराजित आचार्य महेंद्रसागर सूरी ने रविवार को आयोजित धर्मसभा में कहा कि इंसान गलतियों का पुतला है। इसे गलतियां कम करने का लगातार प्रयास करते रहना चाहिए। लोग कहते हैं कि इस समय पंचमकाल कलयुग है इसलिए लोग पंचमकाल को देखते हुए मान बैठे हैं कि इस समय ऐसा हो ही नहीं सकता कि किसी भी व्यक्ति से कोई गलती ना हो। समय को देखते हुए हर एक किसी न किसी दुख से पीडि़त रहना ही होता है। फिर भी हमें लगातार प्रयास करते रहना चाहिए की त्रुटियां कम से कम हों। दोष सभी में होते हैं और हर दोषी व्यक्ति दूसरों से माफी की उम्मीद करता है। गलती रहित इंसान देवता की श्रेणी में आ जाता है पर वह देवता नहीं है। अगर किसी की भूल को माफ कर दिया जाए और इसके पीछे उसकी व्यवस्था का गहराई से निरीक्षण किया जाए तो संभव है वह ऐसा दोबारा ना करे। लेकिन उसके लिए हमें उसे गलतियों को न दोहराने की शपथ लेनी होगी और यह बिना स्वयं की जिम्मेदारी और संवेदना के संभव नहीं है। इंसान को स्वयं अपने व्यक्तित्व का आकलन करना चाहिए। इस प्रकार की परख आपके व्यक्तित्व में निखार लाती है और आपको एक अच्छा व्यक्ति बनने में संबल प्रदान करती है।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned