कांग्रेस में शामिल हुए जद (ध) के 8 पूर्व विधायक

कांग्रेस में शामिल हुए जद (ध) के 8 पूर्व विधायक

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Mar, 26 2018 01:16:00 AM (IST) Mysore, Karnataka, India

विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा के नेतृत्व वाले जनता दल (ध) को झटका लगा

मैसूरु. विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा के नेतृत्व वाले जनता दल (ध) को झटका लगा है। पार्टी के आठ पूर्व विधायक रविवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। इनमें से 7 मौजूदा विधानसभा के सदस्य थे और दो साल से असंतुष्ट चल रहे थे। इन पूर्व विधायकों ने पिछले दो राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया था। पिछले दो महीने में नौ विधायकों ने जद (ध) छोड़ कर दूसरे दलों का दामन थाम लिया।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में जद (ध) के 8 पूर्व विधायक महाराजा मैदान में आयोजित रैली के दौरान पार्टी में शामिल हुए। मौजूदा विधानसभा के सदस्य रहे सातों विधायकों ने शनिवार को ही विधानसभा से त्याग-पत्र दे दिया था। दो साल से बागी बने इन विधायकों का पहले से ही राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव के बाद कांग्रेस में शामिल होना तय था। वर्ष 2016 के राज्यसभा में जद (ध) के 8 विधायकों ने व्हिप का उल्लंघन कर पार्टी उम्मीदवार के खिलाफ मतदान किया था। कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में क्रॉस वोटिंग के कारण जद (ध) ने इन सब को निलंबित कर दिया था।

हालांकि, बाद में पार्टी ने विधायक गोपालय्या का निलंबन वापस ले लिया था लेकिन बाकी 7 विधायकों को अयोग्य ठहराने के लिए विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष अपील दायर की थी, जिस पर अभी फैसला सुरक्षित है। इस बार इन विधायकों को राज्यसभा चुनाव में मतदान करने से रोकने के लिए जद (ध) ने उच्च न्यायालय कर दरवाजा भी खटखटाया था लेकिन उसे वहां भी राहत नहीं मिली। इसके बाद कांग्रेस के दो विधायकों को दुबारा मत पत्र देने से उपजे विवाद के कारण जद (ध) ने चुनाव का बहिष्कार किया और कांग्रेस का तीसरा उम्मीदवार भी आसानी से जीत गया।

पिछले साल ही कांग्रेस आलाकमान ने जद (ध) के सातों असंतुष्ट विधायकों को पार्टी में शामिल करने के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी थी लेकिन उन्हें राज्यसभा चुनाव तक इंतजार करने के लिए कहा था ताकि इनकी मदद से पार्टी तीसरी सीट जीत सके। रविवार को राहुल गांधी ने पूर्व मंत्री बी जेड जमीर अहमद खान, इकबाल अंसारी और एन चलुवराय स्वामी के साथ ही पूर्व विधायक एच.सी. बालकृष्णा, अखंड श्रीनिवास मूर्ति, भीमा नायक, रमेश बंडी सिद्धेगौड़ा का पार्टी में स्वागत किया। इसके अलावा जद (ध) के पूर्व विधान पार्षद एम सी नाणय्या भी भाजपा में शामिल हुए।

वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में जद (ध) ने 40 सीटों जीती थी लेकिन अब उसके सदस्यों की संख्या घटकर सिर्फ 30 रह गई है। इन सात विधायकों के अलावा जनवरी में दो विधायकों- मनप्पा वज्जल और डॉ शिवराज पाटिल ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे जबकि एक विधायक का निधन हो गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned