चुनाव आते-जाते रहेंगे देश के भविष्य की चिंता करनी होगी: तेजस्वी

चुनाव आते-जाते रहेंगे देश के भविष्य की चिंता करनी होगी: तेजस्वी

Santosh Kumar Pandey | Publish: Apr, 17 2019 04:44:45 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 04:44:46 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

लोकसभा का यह चुनाव केवल रस्मअदायगी नहीं है। यह चुनाव देश की अस्मिता के साथ जुड़ा चुनाव है। इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत केवल एक राजनीतिक पार्टी की नहीं बल्कि देश की जीत होगी। देश में कुशल तथा साहसिक नेतृत्व बरकरार रखने के लिए और देश की सम्मान की रक्षा के लिए हमें मोदी को जिताना होगा। यही इस चुनाव का सार है।

बेंगलूरु. लोकसभा का यह चुनाव केवल रस्मअदायगी नहीं है। यह चुनाव देश की अस्मिता के साथ जुड़ा चुनाव है। इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत केवल एक राजनीतिक पार्टी की नहीं बल्कि देश की जीत होगी। देश में कुशल तथा साहसिक नेतृत्व बरकरार रखने के लिए और देश की सम्मान की रक्षा के लिए हमें मोदी को जिताना होगा। यही इस चुनाव का सार है।

बेंगलूरु दक्षिण लोकसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी तेजस्वी सूर्या ने मंगलवार को चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सुबह से शाम तक पट्टाभिनगर, जयनगर के 1 ब्लॉक आदि क्षेत्रों में बैठकों, सभाओं और सम्मेलनों में हिस्सा लेकर अपने पक्ष में जनसमर्थन मांगा।

मंगलवार को प्रचार का अंतिम दिन होने के कारण तेजस्वी ने क्षेत्र में अल सुबह से ही प्रचार अभियान की शुरुआत की और पूरे दिन तूफानी प्रचार किया। सभा, सम्मेलनों में तेजस्वी ने कहा कि विपक्ष के पास कोई चुनावी मुद्दा नहीं है। इसी कारण उन्हें संविधान विरोधी, दलित विरोधी तथा महिला विरोधी साबित करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने सबूतों के साथ इन तमाम आरोपों को निराधार साबित कर दिया।

उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास देश की सुरक्षा, आतंकवादियों के साथ मुकाबला जैसे गंभीर मामलों के समाधान को लेकर कोई स्पष्ट नीति नहीं है। विपक्ष केवल लोगों को भ्रमित करने के लिए कई ऐसे मुद्दे उछाल रहा है। विपक्ष के पास देश की किसी भी समस्या के समाधान के लिए कोई ठोस कार्यक्रम नहीं है। ऐसे में अगर यूपीए-3 सत्ता में आती है तो इस देश के हालत क्या होंगे इसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते। कांग्रेस की न्याय योजना पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए उन्होंने कहा कि विपक्ष की ओर से देश की जनता को भ्रमित करने के लिए ऐसे कार्यक्रम घोषित किए जा रहें जिसके परिणामस्वरुप देश का दीवाला निकलना तय है।

उत्तर भारतीय मतदाताओं के बीच प्रचार करते हुए तेजस्वी ने कहा कि बेंगलूरु दक्षिण लोकसभा क्षेत्र में बसे राजस्थानी प्रवासी सहित सभी उत्तर भारतीय समुदाय स्थानीय समुदाय के साथ दूध में शक्कर की तरह घुल मिल गए हैं। उन्होंने कहा, बेंगलूरु शहर में हमें विभिन्न संस्कृतियों का मिलन देखने को मिलता है। शहर की इस बहुसंस्कृति की रक्षा करना हमारा सामाजिक दायित्व है।

जयनगर में मतदाताओं के बीच तेजस्वी ने कहा कि चुनाव तो आते जाते रहेंगे लेकिन हमें देश के भविष्य, सुरक्षा और अखंडता की चिंता करनी होगी। देश की अस्मिता के सामने अन्य सभी मुद्दे गौण हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए हमें मतदान करना होगा। यह चुनाव केवल किसी राजनीतिक दल की सत्ता को बरकरार रखने के लिए नहीं बल्कि देश की दशा और दिशा तय करने वाला होगा। अंतिम दिन का अंदाज निरालाप्रचार का अंतिम दिन होने के कारण तेजस्वी ने सुबह सबसे पहले पार्कों में टहलने वालों के बीच पहुंचकर वोट की अपील की। बसवनगुडी के कृष्णा राव पार्क में सुबह घूमने आने वाले लोग इससे अचंभित थे। उन्होंने होटलों में नाश्ता करने पहुंचे लोगों से लेेकर सुबह अपने कार्यालय जा रहे लोगों तक पहुंचकर मतदान की अपील की। जयनगर में एक मंदिर के कार्यक्रम में पहुुंचकर तेजस्वी ने देवी की विशेष पूजा भी की।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned