हथिनी रूपा दूसरी बार बनी मां

- बन्नेरघट्टा नेशनल पार्क अब 24 हाथियों का घर

By: Nikhil Kumar

Published: 03 Aug 2020, 01:06 AM IST

बेंगलूरु. हथिनी रूपा दूरी बार बनी मां है। शनिवार को उसने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। इसके साथ ही बन्नेरघट्टा जैविक उद्यान (बीबीपी) अब 24 हाथियों का घर बन गया है। बीबीपी की कार्यकारी निदेशक वनश्री विपिन सिंह ने बताया कि 12 वर्ष की उम्र में रूपा ने एक मादा हाथी को जन्म दिया।

इससे पहले दिसंबर 2016 में वह मादा हाथी 'गौरी' की मां बनी थी। तब उसकी उम्र आठ वर्ष थी। मां और बच्चे की सेहत अच्छी बनी रहे इसलिए उन्हें अच्छी खुराक खिलाई जा रही है। कोरोना संकट के बीच हाथियों का कुनबा बढऩे पर बीबीपी में खुशी की लहर है।

बीबीपी में बढ़ा दरियाई घोड़े का कुनबा

बेंगलूरु. बन्नेरघट्टा जैविक उद्यान (बीबीपी) में शुक्रवार को मादा दरियाई घोड़े ने शावक को जन्म दिया है। बीबीपी की कार्यकारी निदेशक वनश्री विपिन सिंह ने शनिवार को बताया कि 11 वर्षीय मां दक्षया और शावक स्वस्थ है। दक्षया का यह दूसरा शावक है। जनवरी 2018 में नौ वर्ष की उम्र में वह पहली बार मा बनी थी। बीबीपी में दरियाई घोड़े की संख्या बढ़कर आठ हो गई है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned