निजी क्लिनिक, अस्पताल, नर्सिंग होम और लैब का खुलना सुनिश्चित करें

  • चिकित्सा पेशवरों व एम्बुलेंस को मिले आवाजाही की छूट

By: Nikhil Kumar

Updated: 12 May 2020, 10:47 PM IST

बेंगलूरु. लॉकडाउन के दौरान चिकित्सकों, नर्सों, पैरा मेडिकल व सफाई कर्मचारियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाने से कोविड और गैर-कोविड चिकित्सा सेवाएं गंभीर रूप से प्रभावित हो सकती हैं। इसलिए केंद्र सरकार ने राज्यों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि आवाजाही में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। जरूरत पडऩे पर अन्य राज्य में आने-जाने पर भी रोक नहीं हो। एम्बुलेंसों को निर्बाध आवाजाही की अनुमति भी दी जाए।

कोविड-19 मामलों के प्रवक्ता और प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस. सुरेश कुमार ने मंगलवार को संवाददाताओं से ऑनलाइन कॉन्फें्रस के दौरान बताया कि सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे एक पत्र में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा है कि चिकित्सकों, नर्सों व पैरा मेडिकल कर्मचारियों की अंतर-राज्यीय आवाजाही को जहां जरूरत हो वहां सुगम बनाया जाए। सभी चिकित्सा पेशेवरों की सुचारू आवाजाही जन स्वास्थ्य सेवाओं और अनमोल मानव जिंदगियां बचाने के लिए आवश्यक है।

भल्ला ने कहा कि कई स्थानों पर निजी क्लिनिक और नर्सिंग होम के संचालन की अनुमति नहीं दिए जाने की खबरें आ रही हैं। इन चिकित्सा केंद्रों का चालू होना भी अत्यंत जरूरी है क्योंकि ये रोजमर्रा के चिकित्सा ढांचे का अभिन्न अंग हैं और सरकारी अस्पतालों का बोझ कम करते हैं। सभी निजी क्लिनिक, अस्पताल, नर्सिंग होम और लैब का तमाम चिकित्सा पेशेवरों एवं कर्मियों के साथ खुलना सुनिश्चित करें।

प्रवासी श्रमिकों का सड़क और रेलवे पटरियों पर चलना दुखद

भल्ला ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कि प्रदेश सरकार सुनिश्चित करे कि प्रवासी और दिहाड़ी मजदूर सड़कों और रेलवे ट्रैक पर नहीं जाएं। इन्हें इनके गृह राज्य भेजने की व्यवस्था की जाए। घर लौटने के लिए प्रवासी श्रमिकों का सड़क और रेलवे पटरियों पर चलना दुखद है। यदि उन्हें ऐसा करते हुए पाया जाता है तो उन्हें समझाकर पास में स्थित आश्रय स्थल ले जाएं और तब तक उन्हें खाना, पानी आदि दें जब तक कि वह ट्रेन या बस में नहीं चढ़ जातें।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned