दो अभिनेताओं के प्रशंसकों में किस बात को लेकर छिड़ी है जंग, जानिए माजरा

दो अभिनेताओं के प्रशंसकों में किस बात को लेकर छिड़ी है जंग, जानिए माजरा

Santosh Kumar Pandey | Updated: 23 Sep 2019, 05:03:28 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

Fans of two actors of sandalwood fight, संदलवुड में चैलेजिंग स्टार के नाम से मशहूर अभिनेता दर्शन तथा किच्चा नाम से मशहूर अभिनेता सुदीप के प्रशंसकों के बीच गत एक सप्ताह से शीतयुद्ध जारी है।

बेंगलूरु. संदलवुड में चैलेजिंग स्टार के नाम से मशहूर अभिनेता दर्शन तथा किच्चा नाम से मशहूर अभिनेता सुदीप के प्रशंसकों के बीच गत एक सप्ताह से शीतयुद्ध जारी है। दोनों अभिनेताओं ने अपने प्रशंसकों को संयम बरतने की अपील की है। इसके बावजूद यह संघर्ष नहीं थम रहा है। हाल में स्वयं को अभिनेता दर्शन का प्रशंसक बताने वाले एक युवक ने सुदीप की फिल्म पहलवान प्रदर्शित होने के दूसरे दिन ही सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी थी। युवक को साइबर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसी मामले के कारण दोनों अभिनेताओं के प्रशंसकों के बीच संघर्ष है।

आरोपी युवक के अनुसार वह फिल्म अभिनेता दर्शन का प्रशंसक है तथा सुदीप की फिल्म बॉक्स ऑफिस पर विफल हो, इसलिए उसने यह फिल्म सोशल मीडिया पर अपलोड की थी। इसके बाद दोनों अभिनेताओं के प्रशंसकों के बीच सोशल मीडिया पर जंग और तेज हो गई है।

प्रशंसकों ने कड़ा पहना है, कंगन नहीं
दोनों अभिनेताओं के बीच का यह संघर्ष संदलवुड के लिए नया नहीं है। कई बार इनकी फिल्मों के प्रदर्शन के दौरान प्रशंसकों के बीच हाथापाई की घटनाएं हुई हैं। इस बीच अभिनेता सुदीप के ट्वीट पर बवाल हो रहा है, जिसमें सुदीप ने कहा है कि उन्होंने तथा उनके प्रशंसकों ने हाथ में ‘कड़ा’ पहना है ‘कंगन’ नहीं। इस बयान पर दर्शन के प्रशंसकों में गुस्सा है। दर्शन के सैकड़ों प्रशंसक ट्वीट पर जोरदार कमेंट कर रहे हैं, जिसके कारण माहौल गर्मा रहा है। साथ में सुदीप के ‘कंगन’ बयान पर महिला संगठनों ने आपत्ति दर्ज की है।

पायरेसी के खिलाफ एकजुट हो
अभिनेता सुदीप का तर्क है कि किसी फिल्म के निर्माण में वर्षों की मेहनत होती है, लेकिन पायरेसी से मेहनत पर पानी फेरा जा रहा है। किसी भी अभिनेता के प्रशंसकों को ऐसा नहीं करना चाहिए। एक बार फिल्म सोशल मीडिया में अपलोड होने के पश्चात थिएटरों में दर्शकों की संख्या में गिरावट आती है। इससे फिल्में अपेक्षित स्तर पर आय नहीं कमा पाती हैं। संदलवुड के सभी कलाकारों और पूरे फिल्म उद्योग को एकजुट होकर पायरेसी के खिलाफ संघर्ष करना चाहिए। ऐसे अपराध के लिए कड़ी सजा होनी चाहिए।

प्रशसंकों का रवैया बेहद घातक
अभिनेता शिव राजकुमार ने संदलवुड के विभिन्न अभिनेताओं के प्रशंसकों के इस शीतयुद्ध पर चिंता जताते हुए कहा कि यह मानसिकता संदलवुड के लिए घातक साबित होगी। संदलवुड एक परिवार है, लिहाजा यहां एक-दूसरे के प्रति द्वेष नहीं रखना चाहिए। हर अभिनेता की सफलता पर हमें नाज हो। सफलता केवल संबंधित फिल्म तक सीमित नहीं होती, बल्कि पूरे संदलवुड की सफलता होती है।

पायरसी एक गंभीर अपराध है। इस अपराध को नियंत्रित करने के लिए हमें तेलगु, तमिल अभिनेताओं की तरह एकजुट होकर संघर्ष करना होगा। हर फिल्म के निर्माण में फिल्म की यूनिट का परिश्रम होता है। पायरेसी इस परिश्रम को मिटा रही है। कलाकारों को भी संयम बरतते प्रशंसकों का उपयोग एक-दूसरे के खिलाफ नहीं करना चाहिए।

पहलवान, कुरुक्षेत्र पर संदलवुड को नाज
शिवराजकुमार ने कहा कि हाल में प्रदर्शित दर्शन की कुरुक्षेत्र तथा सुदीप की पहलवान दोनों फिल्मों पर संदलवुड को नाज है। ऐसी फिल्मों का हमें स्वागत करना चाहिए। अभिनेताओं के प्रशंसकों को संयम बरतने के साथ अनुशासित होकर सभी की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए। ऐसी भावना तथा एक-दूसरे की सफलता की तारीफ से ही संदलवुड का अस्तित्व बना रहेगा।

किसी भी अभिनेता की फिल्म के प्रदर्शन पर थियटरों में युद्ध जैसा माहौल संदलवुड के लिए घातक है। हम सबको मिलकर संदलवुड को एक नई ऊंचाई पर ले जाना है, इसलिए क्षेत्र के कलाकारों का सम्मान करना चाहिए। यहां पर हम सब एक-दूसरे के साथी हैं, हमसफर हैं, कोई दुश्मन नही, इस बात को हमें ध्यान देना होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned