किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी

  • जिला किसान संघ के नेतृत्व में किया प्रदर्शन
  • नहरों में पानी छोडऩे की मांग
  • किसानों को बकाया राशि का भुगतान करने की मांग
  • अवैध पत्थर खदानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग

By: Santosh kumar Pandey

Published: 23 Jun 2019, 08:20 PM IST

मंड्या. जिला किसान संघ की ओर से कृष्णराज सागर बांध (केआरएस) से नहरों में पानी छोडऩे, गन्ना उत्पादन किसानों को बकाया राशि का भुगतान करने और अवैध पत्थर खदानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर कावेरी निरावरी निगम के बाहर किसानों ने दूसरे दिन भी धरना प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन में जिला किसान संघ के मुखिया दर्शन पुटअण्या ने कहा कि कृष्णराज सागर बांध से नहरों में पानी नहीं छोडऩे पर जिले में खड़ी धान, गन्ना और रागी फसल सूख रही हंै। नहरों में पानी सूखने से फसलों को सूखने के साथ पशुओं का पानी पिलाना मुश्किल हो रहा है। जिला प्रशासन के केआरएस बांध के 20 किलोमीटर दायरे में आने वाली पत्थरों की खदानों पर प्रतिबंध लगाने के बावजूद रात के समय खदानों में अवैध खनन हो रहा है।

उन्होंने कहा कि गन्ना उत्पादन किसानों का बकाया राशि का भुगतान नहीं मिलने पर किसान परेशान हैं। किसानों का दर्द सुनना चाहिए। प्रदर्शन में जिला किसान संघ अध्यक्ष शुभणहल्ली सुरेश, शंकरे गौड़ा, भोमेगौड़ा सहित जिलभर के किसान भाग ले रहे हैं। मद्दूर तहसील तालुक पंचायत कार्यालय के बाहर किसानों ने नहरों में पानी नहीं छोडऩे के विरोध में फांसी का फंदा हाथों में लेकर प्रदर्शन किया।

इसी तरह भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी केआरएस बांध से नहरों में पानी छोडऩे व गन्ना उत्पादन किसानों का बकाया राशि का भुगतान नहीं होने पर सिल्वर जुबली पार्क से बेंगलूरु-मैसूरु राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित संजय सर्कल तक राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned