पांचवी प्राणवायु एक्सप्रेस बेंगलूरु पहुंची

160 टन ऑक्सीजन लेकर आई है कर्नाटक

By: Yogesh Sharma

Published: 20 May 2021, 07:38 PM IST

बेंगलूरु. भारतीय रेलवे कोविड-19 महामारी की चुनौतियों के बावजूद आवश्यक वस्तुओं को देश के विभिन्न कोनों तक पहुंचाने में जुटा हुआ है। रेलवे के समर्पित कर्मचारियों ने इस महामारी के दौरान चिकित्सा ऑक्सीजन सहित आवश्यक वस्तुओं के कुशल और तेज परिवहन को सक्षम बनाया है। दक्षिण पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी अनिश हेगड़े ने बताया कि झारखंड के जमशेदपुर (टाटानगर) से बुधवार तड़के रवाना हुई पांचवी प्राणवायु एक्सप्रेस गुरुवार मध्यरात्रि बाद 01%55 बजे इनलैंड कन्टेनर डिपो व्हाइटफील्ड पहुंची। ऑक्सीजन एक्सप्रेस में 8 क्रायोजैनिक कंटेनर हैं। प्रत्येक कंटेनर में 20 टन ऑक्सीजन है। इस लिहाज से कर्नाटक को अब तक 640 टन तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति हो चुकी है।
ऑक्सीजन एक्सप्रेस के तेजी से परिवहन के लिए रेलवे ने एक सिग्नल फ्री ग्रीन कॉरिडोर बनाया था। यानी इस ट्रेन को स्टॉपेज फ्री चलाया गया है। ट्रेन को क्रॉसिंग/पास के लिए इंतजार नहीं करना पड़ा। 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही ट्रेन का स्टाफ भी जोलारपेट में बदला गया। भारतीय रेलवे ने अब तक लगभग 196 ऑक्सीजन एक्सप्रेस का परिचालन कर चुका है। राज्य सरकारों को कोविड-19 के खिलाफ उनकी लड़ाई में सहायता करने के लिए पूरे देश में 11800 टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन पहुंचाई जा चुकी है।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned