एक सप्ताह में जारी होगी सूची : परमेश्वर

एक सप्ताह में जारी होगी सूची : परमेश्वर

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Apr, 10 2018 12:56:30 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

कांग्रेस के सभी 224 उम्मीदवारों की सूची जारी होगी। किस्तों में सूची जारी करने से पार्टी में बगावत का खतरा है। इसलिए एक साथ पूरे प्रमाण में सूची जारी क

बेंगलूरु. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ.जी.परमेश्वर ने कहा कि कांग्रेस के सभी उम्मीदवारों की सूची अगले सप्ताह एक ही बार में जारी की जाएगी।

उन्होंने सोमवार को कहा कि उम्मीदवारों की सूची नई दिल्ली में स्क्रीनिंग समिति के सामने रखी जाएगी। कांग्रेस के सभी 224 उम्मीदवारों की सूची जारी होगी। किस्तों में सूची जारी करने से पार्टी में बगावत का खतरा रहता है। इसलिए देरी से सही एक साथ पूरे प्रमाण में सूची जारी करने का फैसला लिया है। दिसंबर में गुजरात में हुए विधासनभा चुनाव में टिकट के लिए कड़ा मुकाबला हुआ था।

आलाकमान ने हर क्षेत्र के लिए केवल एक उम्मीदवार का नाम तय किया था। इसी तर्ज पर कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए एक ही उम्मीदवार का चयन होगा। सभी दावेदारों को विश्वास में लेकर जीतने वाले उम्मीदवारों को ही उतारा जाएगा। गुजरात के चुनाव के लिए प्रदेश कांग्रेस के प्रभारियों ने ही नाम तय किए थे।

उन्होने कहा कि विधायकों के पुत्रों या रिश्तेदारों को टिकट देने पर अभी तक कोई विचार नहीं किया गया है। बेंगलूरु में हुई बैठक में कई विधायकों ने पूर्व मंत्री श्यामनूर शिवशंकरप्पा और उनके पुत्र एमएम मल्लिकार्जुन, आवास मंत्री एम.कृष्णप्पा और उनके पुत्र प्रियकृष्णा, लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे और उनके पुत्र प्रियांक खरगे को टिकट दिए जाने की बात रखी थी।

इसलिए राजस्व मंत्री कागोडू तिम्मप्पा ने अपनी पुत्री, शहरी विकास एवं हज मंत्री आर.रोशन बेग ने पुत्र, पूर्व केंद्रीय मंत्री सी.के.जाफर शरीफ ने पोते और पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद के.एच.मुनियप्पा ने उनकी पुत्री को टिकट देने की मांग की है। गृह मंत्री रालमिंला रेड्डी, कानून मंत्री टीबी जयचंद्र और लोक निर्माण मंत्री डॉ.एस.सी महादेवप्पा ने भी उनके पुत्र को टिकट की मांग की है।

उन्होंने कहा कि वे कोरटगेरे से चुनाव लड़ेंगे और मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या चामुंडेश्वरी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। उन्हें सिद्धरामय्या के बादामी से चुनाव लडऩे के बारे में जानकारी नही ंहै। इस क्षेत्र के मतदाताओं ने मुख्यमंत्री के निवास के सामने धरना दिया और उनके क्षेत्र से चुनाव लडऩे की मांग की है।

सिद्धरामय्या को हराने के उद्देश से पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस ये्ड्डयूरप्पा के बीच गुप्त करार हुआ है। सभी विपक्षी दलों के नेता एक होकर केवल सिद्धरामय्या को ही निशाना बना रहे हैं। लेकिन सिद्धरामय्या चामुंडेश्वरी से जरूर जीत हासिल करेंगे।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने जनता दल (ध), भाजपा और केजीपी छोड़कर कांग्रेस में आए विधायकों को टिकट देने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा गत विधानसभा चुनावों में पांच सौ से एक हजार तक वोटों के अंतर से पराजित उम्मीदवारों को भी टिकट दिया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned