आखिरी दिन कांग्रेस और भाजपा उम्मीदवारों ने भरा पर्चा

आखिरी दिन कांग्रेस और भाजपा उम्मीदवारों ने भरा पर्चा

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Mar, 13 2018 01:07:02 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

कांग्रेस के हनुमंतय्या, नासिर हुसैन और चंद्रशेखर ने भी दाखिल किया नामांकन पत्र

राजीव चंद्रशेखर तीसरी बार पहुंचेंगे राज्यसभा

बेंगलूरु. राज्यसभा चुनाव में नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन सोमवार को चार प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किए। 23 मार्च को होने वाले चुनाव में राज्य से चार सीटों के लिए इस बार 5 प्रत्याशी मैदान में हैं। विधानसभा सचिव एस मूर्ति राज्य सभा चुनावों के चुनाव अधिकारी हैं। सभी प्रत्याशियों ने मूर्ति को अपने नामांकन पत्र सौंपे।

सोमवार को नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन सत्तारूढ़ कांग्रेस के तीनों उम्मीदवारों ने अपने पर्चे दाखिल किए। दलित वर्ग के लेखक डॉ एल हनुमंतय्या, डॉ सैय्यद नासिर हुसैन और अखिल भारतीय कांग्रेस के प्रवक्ताओं में से एक जीसी चंद्रशेखर ने नामांकन के कागजात एस मूर्ति को सौंपे।

कारोबारी राजीव चंद्रशेखर ने राज्य सभा चुनाव के लिए भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। जनता दल (ध) के उम्मीदवार बीएम फारूक पहले ही अपना नामांकन दाखिल कर चुके थे लेकिन सोमवार को उन्होंने नामांकन पत्र का दूसरा सैट भी दाखिल कर दिया। मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच होगी।

राजीव चंद्रशेखर का यह राज्य सभा में तीसरा कार्यकाल होगा। इससे पहले वे दो बार निर्दलीय चुने गए थे। पर्चा दाखिल करने से पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येड्डियूरप्पा ने उन्हें पार्टी में शामिल करने की औपचारिकता पूरी की। नामांकन दाखिल करते समय प्रदेश के शीर्ष भाजपा नेता मौजूद थे। उनकी जीत सुनिश्चित कराने के लिए भाजपा के पास विधानसभा में पर्याप्त संख्या बल है।

विधानसभा में कांग्रेस के पास 122, भाजपा के पास 43 तथा जद (ध) के पास 37 विधायक है। जद (ध) के 7 बागी विधायक पार्टी से निष्कासित है। जीत के लिए 44 मतों की आवश्यकता है। विधानसभा की मौजूदा संख्या बल को देखते हुए कांग्रेस के दो प्रत्याशियों की जीत भी सुनिश्चित है जबकि तीसरे उम्मीदवार को जिताने के लिए उसे दूसरे दलों के समर्थन की जरूरत होगी।

हालांकि, वृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) में जनता दल (ध) कांग्रेस का सहयोगी है लेकिन राज्यसभा चुनाव में उसने अपना उम्मीदवार बीएम फारूक के रूप में उतारा है लेकिन संख्या बल को देखते हुए फारूक की जीत मुश्किल है।

कांग्रेस ने पहले ही कह दिया था कि वह जनता दल (ध) उम्मीदवार को अपना समर्थन नहीं देगी ऐसे में चौथे सीट के लिए दोनों पार्टियों के बीच कड़ा संघर्ष होने की उम्मीद है। गौरतलब है कि के रहमान खान (कांग्रेस), बसवराज पाटिल सेडम और आर.रामकृष्ण (भाजपा) व राजीव चंद्रशेखर (निर्दलीय) का राज्यसभा कार्यकाल 2 अप्रेल को समाप्त हो रहा है।

इस द्विवार्षिक चुनाव में राजीव चंद्रशेखर इकलौते हैं जो पुन: राज्यसभा पहुंचेंगे। राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान एवं मतों की गिनती 23 मार्च को होगी। उसी दिन परिणाम घोषित किए जाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned