फ्लाइट से आकर लूटपाट करने वाले बावरिया गिरोह के 5 सदस्य गिरफ्तार

माइको ले आउट पुलिस ने हवाई जहाज से बेंगलूरु आकर आभूषण लूटने वाले उत्तर प्रदेश के बावरिया गिरोह के ५ सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 10:22 PM IST

बेंगलूरु. माइको ले आउट पुलिस ने हवाई जहाज से बेंगलूरु आकर आभूषण लूटने वाले उत्तर प्रदेश के बावरिया गिरोह के ५ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार उत्तर प्रदेश के शामिली निवासी जयप्रकाश (२२), नितिन कुमार (२१), जितेंद्र कुमार (२२), कपिल कुमार (२५) और नंद किशोर (३३) विमान से बेंगलूरु आते थे।

यहां महिलाओं के आभूषण लूटने के बाद लौट जाते थे। उनके खिलाफ माइको ले आउट, तिलक नगर, जेपी नगर, केंगेरी, आरएमसी यार्ड, जयनगर, कुमारस्वामी ले आउट, सुब्रह्मण्या नगर, ज्ञानभारती और अन्य पुलिस थानों में आभूषण छीनने के ३० मामले दर्ज हैं। उनसे मिली जानकारी के आधार पर २० लाख रुपए के आभूषण जब्त किए हैं। आभूषण छीनने में इस्तेमाल होने वाली चार बाइक भी जब्त की गई हैं।


पुलिस का कहना है कि गिरोह के सदस्य शहर के बाहरी इलाके में किराए पर मकान लेकर रहते थे। कुछ सदस्य वारदात अंजाम देने के बाद लौट जाते थे। फिर दूसरे सदस्य बेंगलूरु आकर वारदातों को अंजाम देते। इसी तरह गिरोह के सदस्य बारी-बारी से बेंगलूरु आकर लूटपाट करते थे। लूटे गए आभूषण उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर बेचते थे। यह गिरोह गत तीन माह से सक्रिय था।


पुलिस का कहना है कि जयप्रकाश इस गिरोह का मुखिया है। वह लूटपाट में अनुभवी है। उसके खिलाफ हरियाणा और नई दिल्ली में भी कई मामले दर्ज हंै। वह हरियाणा के करनाल में आठ दोपहिया चोरी के आरोप में गिरफ्तार हुआ था। जमानत पर रिहा होने के बाद बेंगलूरु आकर आभूषण लूटने में लग गया।


लूटपाट की घटनाएं बढऩे पर आरोपियों को पकडऩे के लिए दक्षिण-पूर्व संभाग के पुलिस उपायुक्त डॉ.बोरलिंगय्या ने एक विशेष दल गठित किया था। इस दल ने कई तरीकों से जांच करने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरोह ने मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, अहमदाबाद और अन्य प्रमुख शहरों की पुलिस को भी परेशान कर रखा था। पुलिस आयुक्त टी.सुनील कुमार ने कई महिलाओं को उनके आभूषण लौटाए और विशेष दल को नकद पुरस्कार देने की घोषणा की।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned