चिकमगलूर में शंकराचार्य की प्रतिमा पर झंडा फेंका

साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश

By: Santosh kumar Pandey

Published: 14 Aug 2020, 11:15 AM IST

बेंगलूरु. बेंगलूरु के बाद चिकमगलूरु में गुरुवार रात को साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश की गई । यहां श्रृंगेरी में शंकराचार्य की प्रतिमा पर आपत्तिजनक झंडा फें का गया है। झंडा मिलने की खबर फैलते ही शंकराचार्य चौराहे व आस-पास के इलाकों में तनाव पैदा हो गया।

हालांकि पुलिस का कहना था कि यह झंडा किसी राजनीतिक दल का नहीं है वहीं कुछ भाजपा नेताओं का आरोप था कि यह सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया का झंडा है।

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार यहां शंकराचार्य की प्रतिमा के ऊपर गोपुरम पर झंडा पाया गया। यह किसी राजनीतिक दल का झंडा नहीं है। इसका कुछ हिस्सा नीला, कुछ लाल और कुछ हरा है। अधिकारी का कहना था कि यह किसी असामाजिक तत्व ने फेंका होगा और झंडा गोपुरम में फंस गया होगा।

झंडे से प्रतिमा को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। पुलिस ने झंडा हटा दिया है और मामला दर्ज किया गया है। बाद में स्थानीय भाजपा नेताओं ने भी मामला दर्ज कराया। भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री एसए रामदास ने घटना की निंदा की है।
पुलिस का कहना है कि पुलिस के हाथ कुछ महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं।

चार प्रमुख मठों में से एक

बता दें कि श्रृंगेरी आदि शंकराचार्य द्वारा 1300 साल पहले स्थापित चार प्रमुख मठों में से एक है। यहां वर्तमान में स्वामी भारती तीर्थ शंकराचार्य हैं।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned