रेणुकाचार्य के बयान पर सियासी उबाल

जारकीहोली के आवास पर नाराज विधायकों ने की बैठक

By: Sanjay Kulkarni

Published: 26 Nov 2020, 07:06 PM IST

बेंगलूरु. पूर्व मंत्री तथा मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा के राजनीतिक सचिव एमपी रेणुकाचार्य के एक बयान ने राज्य की सियासत में उबाल पैदा कर दिया है। बयान से नाराज हुए कांग्रेस तथा जद-एस से भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायकों ने जल संसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली के निवास पर बैठक की। मंत्रिमंडल विस्तार में हो रही देरी के बीच जारकीहोली ने पिछले एक पखवाड़े में दो बार दिल्ली जा चुके हैं, जिसके लेकर राजनीतिक हलकों में कयासों का दौर जारी है।

बुधवार को दिल्ली जाने से पूर्व जारकीहोली और समाज कल्याण मंत्री बी श्रीरामुलू के बीच बैठक को लेकर भी चर्चाएं हैं। बताया जाता है कि जारकीहोली, पूर्व सांसद प्रभाकर कोरे और विधान पार्षद महेश कवटगीमठ के बीच काफी देर चर्चा हुई। कुछ महीने पहले ही मुख्यमंत्री ने श्रीरामुलू का विभाग बदला था।रेणुकाचार्य ने हाल में एक बयान में कहा कि भाजपा के 105 विधायक हैं। ऐसे में इस सरकार को समर्थन देनेवाले 17 विधायकों को यह भ्रम नहीं पालना चाहिए कि उनके समर्थन के कारण ही यह सरकार बनी है।

पर्याप्त विधायक थे तो सरकार क्यों नहीं बनाई

रेणुकाचार्य के इस बयान पर पलटवार करते हुए विधान परिषद सदस्य एमबीटी नागराज ने कहा है कि अगर भाजपा के पास 105 विधायक थे तो भाजपा की सरकार क्यों नहीं बनी। सरकार बनाने के लिए कांग्रेस तथा जनता दल- एस के 17 विधायकों को त्यागपत्र देकर उपचुनाव लडऩे की नौबत क्यों आई। भाजपा की प्राथमिक सदस्यता लेकर 17 नेताओं के भाजपा में शामिल होने के बाद पुराने तथा नए भाजपाई जैसे विवाद खड़े करना उचित नहीं है।

मंत्री पद पर बने रहने का भरोसा

शशिकला बेंगलूरु. महिला एवं बाल विकास मंत्री शशिकला जोल्ले ने कहा कि जब भी मंत्रिमंडल के पुनर्गठन की बात आती है तब मुझे मंत्री पद से हटाए जाने की खबरें चलती है। लेकिन मुझे भरोसा है कि मंत्री पद बरकरार रहेगा।यहां बुधवार को उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल में वह एक मात्र महिला सदस्य हैं। पार्टी के तीन महिला विधायकों में से उनको मंत्री बनाया गया है। निपाणी विधानसभा क्षेत्र में उन्होंने दो बार जीत हासिल की है। साथ में महिला एवं बाल विकास मंत्री पद का दायित्व भी उन्होंने निभाया है।हाल में उनके दिल्ली के दौरे को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भाजपा की समर्पित कार्यकर्ता होने के नाते से उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, तथा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ मुलाकात

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned