लूट के मामले में रिटायर सिपाही समेत चार गिरफ्तार

सिटी मार्केट थानाक्षेत्र का मामला

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 26 Aug 2020, 08:31 AM IST

बेंगलूरु. सिटी मार्केट पुलिस ने 26.5 लाख रुपए लूटने के मामले में एक सेवा निवृत्त सिपाही समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान कर्नाटक राज्य श्रमिक हितरक्षण वेदिके के संस्थापक अध्यक्ष महेश (46), नगर शस्त्र आरक्षी पुलिस बल (सीएआर) के सेवा निवृत्त हेड कांस्टेबल आरोग्या स्वामी (67), कार चालक तिलक (22) और फोटोग्राफर किशोर (25) के तौर पर की गई है।

इस मामले के प्रमुख आरोपी एस.जे.पार्क पुलिस थाने के पुलिस उप निरीक्षक (एसआई) जीवन कुमार और कर्नाटक मानव अधिकार जनजागृति समिति के अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश को गिरफ्तार किया था।

पुलिस के अनुसार तुमकूरु जिले टिपटूर निवासी मोहन नारियल और सुपारी का व्यापारी है। वह सिटी मार्केट के कई व्यापारियों को नारियल और सुपारी बेचाता है। मोहन ने व्यापारियोंं से रुपए संग्रहित करने दो कर्मचारी शिवकुमार और राजेश को कार चालक के साथ गत १९, अगस्त को बेंगलूरु भेजा था। शिवकुमार ने चिकपेट पहुंच कर एक व्यापारी से २६.५ लाख रुपए लिए और मोहन को इसकी जानकारी दी। मोहन ने शिवकुमार को चिकपेट मेट्रो स्टेशन के पास ही प्रतीक्षा कर वहां आने वाले एक अन्य व्यापारी से भी दो लाख रुपए संग्रहित करने को कहा। उसी समय तीन लोग जीवन कुमार, ज्ञानप्रकाश और किशोर ने खुद को पुलिस कर्मचारी बताकर कार में शिवकुमार, राजेश और दर्शन तीनों को साथ चलने के लिए कहा।

जीवन कुमार बाइक पर जे.सी.रोड के यूनटी बिल्डिंग के पास ले गया। वहां रुपयोंं से भरा बैग छीन लिया। फिर तीनों को लाल बाग रोड पर छोड़ दिया। रुपए लूटने की शिकायत दर्ज करने पर हत्या की धमकी दी गई।

शिवकुमार ने सिटी मार्केट पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) संजीव कुमार पाटिल ने पुलिस निरीक्षक कुमारस्वामी के नेतृत्व में एक विशेष दल गठित किया था। दल ने घटना स्थल और जे.सी.रोड पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच करने पर शिवकुमार की कार के आगे जीवन कुमार को बाइक पर जाते देखा गया। पुलिस ने जीवन कुमार और ज्ञान प्रकाश को गिरफ्तार किया। दोनों की सूचना पर अन्य चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। अभी रुपए बरामद नहीं हुए।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned