इंदिरा कैंटीन से मुफ्त भोजन दिया जाए: गौड़ा

पूर्व मंत्री व विधायक कृष्ण बैरेगौड़ा ने इंदिरा कंैटीनों में गरीबों और श्रमिकों को मुफ्त भोजन बंद करने पर नाराजगी जताई और भोजन देना जारी रखने की मांग की।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 05 Apr 2020, 06:15 PM IST

बेंगलूरु. पूर्व मंत्री व विधायक कृष्ण बैरेगौड़ा ने इंदिरा कंैटीनों में गरीबों और श्रमिकों को मुफ्त भोजन बंद करने पर नाराजगी जताई और भोजन देना जारी रखने की मांग की।

उन्होंने वार्ड नंबर ११ के अंतर्गत कुवेम्पू नगर, रामचन्द्रपुर और अन्य लोगों को अनाज, मास्क, सैनिटाइजर और किट वितरित करने के बाद कहा कि सरकार को किसी ने झूठी सूचना दी है कि इंदिरा कैंटीनों के भोजन का गलत इस्तेमाल हो रहा है। केवल भाजपा के पार्षदों ही भोजन का गलत इस्तेमाल करवा रहे हंै। पार्षद इंदिरा कैंटीनों से जबर्दस्ती बड़ी संख्या में भोजन केपैकेट ले जा रहे हैं और गरीबों, श्रमिकों को खुद बंाट कर ्रराजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश कर रहे हंै। भोजन की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार ने ही शिकायत की है। सरकार को चाहिए कि वह खुद विभिन्न विभागों के जरिए भोजन वितरित करने की व्यवस्था करें।

उन्होंने कहा कि निजी कंपनियां लॉकडाउन की आड़ लेकर २.५० लाख रुपए वाले वेंटिलेटर १० लाख रुपए में बेच रही हैं। इन महंगे वेंटिलेटरों की खरीदी के कारण इंदिरा कैटीनों का फ्री भोजन बंद कर दिया गया है। वेंटिलेटर की खरीदी में भ्रष्टाचार हुआ है। इसकी जांच कराने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि गत तीन सप्ताह से गरीब और श्रमिक कोई रोजगार और आय नहीं होने के कारण कई संकटों का सामना कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस हर दिन छह हजार लोगों को दो समय का भोजन उपलब्ध करवा रही है। कांग्रेस के पार्षदों ने वार्डों में ८०० परिवारों को अनाज वितरित किया है।

Corona virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned