मैकेदाटु पर विरोध बंद करने के लिए गडकरी ने लिखा पत्र

केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नीतिन गडकरी ने एआईएडीएमके नेता एम.थंबीदुरै को पत्र लिखकर मैकेदाटु परियोजना का संसद में विरोध बंद करें।

बेंगलूरु. केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नीतिन गडकरी ने एआईएडीएमके नेता एम.थंबीदुरै को पत्र लिखकर मैकेदाटु परियोजना का संसद में विरोध बंद करें। अगर वे विरोध प्रदर्शन बंद करेंगे तो दोनों राज्यों के बीच समझौते के लिए एक स्वीकार्य फार्मूला निकाला जा सकता है।


उन्होंने आग्रह किया है कि तमिलनाडु की राजनीतिक पार्टियां एआईएडीएमके और डीएमके परियोजना को लेकर चल रहे प्रदर्शन को रोकें तो केंद्र कुछ सामाधान निकालेगा। अगर विरोध प्रदर्शन जारी रहा तो मामला और जटिल हो सकता है। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि केंद्र सरकार तमिलनाडु को विश्वास में लिए बिना मैकेदाटु पर कोई फैसला नहीं करेगी।

तमिलनाडु की दोनों प्रमुख पार्टियां मैकेदाटु परियोजना को लेकर संसद के बाहर और भीतर प्रदर्शन कर रही हैं। इससे पहले गडकरी ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी से कहा था कि वह मैकेदाटु परियोजना पर सहमति के लिए दोनों राज्यों के प्रमुखों की संयुक्त बैठक बुलाएंगे। राज्य सरकार कावेरी के अतिरिक्त पानी को पेयजल के तौर पर इस्तेमाल के लिए मैकेदाटु में एक जलाशय निर्माण करना चाहती है ताकि उसे समुद्र में बहाने की नौबत नहीं आए।


आइपीएस डी. रूपा के फर्जी सोशल मीडिया प्रोफाइल से लगाई चपत
बेंगलूरु. भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी डी. रूपा के नाम फर्जी इंस्टाग्राम प्रोफाइल बनाकर लोगों से पैसे मांगने का एक मामला उजागर होने पर रूपा ने साइबर अपराध थाने में मामला दर्ज कराया है।


मामले का खुलासा तब हुआ जब एक दानदाता ने ट्वीट करके डीआइजी डी. रूपा से पैसे मांगने का कारण पूछा। रूपा ने स्पष्ट किया कि इंस्टाग्राम पर उनका कोई प्रोफाइल नहीं है। बाद में पता चला कि फर्जी प्रोफाइल की मदद से कई लोगों से छोटी छोटी रकम ली गई है, जो २० रुपए से लेकर ५०० रुपए तक है। फर्जी प्रोफाइल बनाने वाले ने लोगों से कहा था कि बालिका शिक्षा के लिए चलाए जा रहे अभियान में दान राशि का उपयोग होगा।

रूपा ने शनिवार को साइबर अपराध थाने में शिकायत दर्ज कराई। उन्होंने पुलिस से आग्रह किया कि फर्जी प्रोफाइल से लोगों को चपत लगाने वाले आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार किया जाए और इंस्टाग्राम के तकनीकी विंग को सूचित कर उनके नाम से बना फर्जी प्रोफाइल डिलीट किया जाए। रूपा ने कहा कि लोगों से एक ऑनलाइन पेमेंट ऐप के माध्यम से पैसे लिए गए हैं। कितने लोगों ने और कितनी राशि का लेनदेन हुआ है, इससे वह अनभिज्ञ हैं। उन्होंने आम नागरिकों से अपील की कि मेरे नाम का कोई इंस्टाग्राम प्रोफाइल नहीं है और फर्जी प्रोफाइल बनाने वाले ने उनके फेसबुक पेज से उनकी तस्वीरें डाउनलोड की थी।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned