गौरी लंकेश हत्याकांड: स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस के अधिकारी भी एसाअईटी के साथ जांच में जुटे

Shankar Sharma

Publish: Sep, 16 2017 08:58:14 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
गौरी लंकेश हत्याकांड: स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस के अधिकारी भी एसाअईटी के साथ जांच में जुटे

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले की जांच में सहयोग के लिए स्कॉटलैंड यार्ड के दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बेंगलूरु पहुंच गए

बेंगलूरु. पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले की जांच में सहयोग के लिए स्कॉटलैंड यार्ड के दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बेंगलूरु पहुंच गए हैं और वे विशेष जांच दल (एसआईटी) के साथ काम कर रहे हैं। साहित्यकार डॉ. एमएम कलबुर्गी, महाराष्ट्र के गोविंद पानसरे और नरेंद्र दाभोलकर की हत्याओं के मामलों में स्काटलैंड यार्ड पुलिस ने सीबीआई को एक ही प्रकार की पिस्तौल (७.६५ एमएम) इस्तेमाल होने की जानकारी दी थी। अब गौरी लंकेश की हत्या करने में भी ७.६५ एमएम की पिस्तौल का इस्तेमाल किया गया है।

इसलिए एसआईटी ने गौरी लंकेश हत्या मामले में भी सहयोग के लिए स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से अनुरोध किया था। गौरी लंकेश के शरीर से निकाली गई गोलियां और मकान के परिसर में मिली गोलियां एक ही सी थीं। एसआईटी ने दो दिन पहले स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से अनुरोध किया था। उनके तकनीकी विभाग से दो पुलिस अधिकारियों को भेजा गया है। दोनों अधिकारियों ने गौरी लंकेश के निवास और अखबार दफ्तर में जाकर जांच की। दोनों तकनीकी अधिकारी मोबाइल कॉल डिटेल की जांच करने पर दंग रह गए क्योंकि गौरी ने गत छह माह में केवल ६० कॉल का जवाब दिया है।

उनके मोबाइल पर सैंकड़ों मिस कॉल आए थे लेकिन गौरी लंकेश केवल पहचान के मित्रों और रिश्तेदारों की कॉल का जवाब देती थीं। गौरी लंकेश से हर कोई सीधे ही संपर्क करता था। वह किसी होटल, ग्रांथालय या दफ्तर में मुलाकात करती थीं। दोनो अधिकारियों ने मोबाइल नेटवर्क कंपनी से पिछले डेढ़ साल के कॉल विवरण देने का अनुरोध किया है।


८५ लोगों के बयान अब तक किए दर्ज
एसआईटी ने ८५ लोगों के बयान लिए और विडियो रिकार्डिंग की है। गौरी के अखबार के दफ्तर में काम करने वालों से भी पूछताछ की गई। आज तक कोई कर्मचारी गौरी लंकेश के निवास नहीं गया था और निवास के मार्ग का भी पता नहीं था।


दो करीबियों को भी पूछताछ का बुलावा
जांच से पता चला है कि हत्या के दिन एक पुरुष और महिला गौरी लंकेश के साथ दोपहर ढाई बजे से शाम साढ़े छह बजे तक थे। एसआईटी ने मधु और कल्पना नामक महिला और पुरुष के तौर पर पता लगाया। दोनों को पूछताछ के लिए शनिवार को सीआईडी कार्यालय बुलाया गया है। दोनों ने गौरी लंकेश की हत्या के बाद एक बार पुलिस से मुलाकात की और फिर गायब हो गए थे। दोनों गौरी के करीबी मित्र बताए गए हैं।


भवन निर्माता से पूछताछ
एसआईटी ने शहर के एक प्रसिद्ध भवन निर्माता अरुण से भी पूछताछ की। गौरी की मां इंदिरा के नाम पर नेलमंगला के पास कई एकड़ भूमि है। अरुण बार बार इंदिरा से अपनी जमीन उसे बेचने की मांग करता रहता था। इंदिरा के इनकार करने पर अरुण ने कई बार उनसे झगड़ा किया था। अरुण ने गौरी परिवार को एक बार धमकी भी दी थी। इस कारण उससे पूछताछ की गई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned