गौरी लंकेश के हत्यारों का खुलासा एक सप्ताह में

गौरी लंकेश के हत्यारों का खुलासा एक सप्ताह में

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 23 Feb 2018, 01:09:45 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि गौरी लंकेश के हत्यारों के बारे में विस्तृत जानकारी मिली है।

बेंगलूरु. पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों के नाम का खुलासा एक सप्ताह में होगा लेकिन साहित्यकार डॉ.एम.एम.कलबुर्गी के हत्यारों का सुराग अभी तक नहीं मिला है।

गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने गुरुवार को विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान सदस्य पी.संकनूर को बताया कि गौरी लंकेश के हत्यारों के बारे में विस्तृत जानकारी मिली है और शीघ्र ही हत्यारों के नामों का खुलासा हो जाएगा। डॉ.कलबुर्गी की हत्या की जांच जारी है और इस मामले को बंद नहीं किया गया है। गोविंद पंसारे और नरेंद्र दाभोलकर मामलों की जांच महाराष्ट्र में चल रही है। उन मामलों से सरकार का कोई लेना-देना नहीं है।

नेता प्रतिपक्ष के.एस.ईश्वरप्पा ने कहा कि शीघ्र ही गौरी लंकेश के हत्यारों के नाम उजागर किए जाने की बातें सुनकर उनके कान पक चुके हैं। आखिर कब हत्यारों के नाम उजागर होंगे। इसकी कोई समय सीमा निर्धारित की जाए। इस पर रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि एक सप्ताह में आरोपियों के नामों का खुलासा हो जाएगा।

सदस्य प्रदीप शेट्टर ने कहा कि हुब्बली में समाजंकटों की अवैध गतिविधियां बढ़ गई हैं। समाजंकटों पर फायरिंग के निर्देश दिए जाएं। रेड्डी ने कहा कि पुलिस को आधुनिक पिस्तौलें दी गई हैं। वह हालात पर काबू के लिए किसी भी समय पिस्तौल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए अलग से अनुमति देने की जरूरत नहीं है। उन्हें पता है कि पिस्तौल का कब और कैसे इस्तेमाल करना है।

रामलिंगा रेड्डी ने सदस्य श्रीकंठे गौड़ा और डी.एस.वीरय्या के सवालों पर कहा कि गत वर्ष प्रदेश में 63 हत्या, 185 दुष्कर्म और 1882 उत्पीडऩ के मामले दर्ज किए गए। १४ दुष्कर्म के मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में आरोप पत्र भी दाखिल किया गया है। प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस थानों में हर माह के दूसरे रविवार को दलित दिवस मनाया जाता है। उसमें दलित नेताओं को आमंत्रित कर थाने बुलाया जाता है। उनकी समस्याएं और शिकायतें सुनने के बाद समाधान किया जाता है। इससे अजा-जजा वर्ग के उत्पीडऩ में कमी आ रही है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned