घोषणा पत्र जारी होते ही भाजपा की बोलती बंद

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने कहा है कि कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी होने के बाद से भाजपा के सभी नेताओं की बोलती बंद हो गई है।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 04 Apr 2019, 03:50 PM IST

प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने साधा निशाना
बेंगलूरु. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने कहा है कि कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी होने के बाद से भाजपा के सभी नेताओं की बोलती बंद हो गई है।

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस का चुनाव घोषणा पत्र ऐतिहासिक, क्रांतिकारी है और देश के समग्र विकास के लिए तैयार किया गया है। इसके जारी होने साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत सभी नेताओं की जुबान बंद हो गई है। कांग्रेस के खिलाफ बोलने के लिए कुछ नहीं रह गया। अमित शाह ने मंगलवार को शहर में रोड शो के दौरान भी कुछ नहीं कहा। इसके लिए चुनाव प्रचार का समय खत्म होने का बहाना तलाश किया गया।
गुंडूराव ने कहा कि घोषणा पत्र गरीब, किसान, श्रमिक और आम लोगों का है। देश को विकास की राह पर लेजाने वाला है। न्याय योजना के तहत गरीबों को सालाना ७२००० रुपए देने को भाजपा असंभव बता रही है। मगर हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी भाजपा जैसी झूठ बोलने वाली नहीं है।
चुनाव चंदा प्रक्रिया होगी पारदर्शी

घोषणा पत्र में राजनतिक दलों को चंदा देने वालों का विवरण छिपाने वाले चुनाव बांड को रद्द करने की बात भी कही गई है। पार्टियों को चंदा देने वालों का विवरण देश को मालूम होगा। मोदी सरकार की ओर से शुरू की गई मौजूदा व्यवस्था में चोर, तस्कर, डॉन दाउद इब्राहिम और नीरव मोदी जैसे लोग भी पार्टियों को गुप्त तरीके से चंदा दे सकते हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा इस गलतफहमी में हैं कि लोकसभा चुनाव के बाद राज्य की गठबंधन सरकार गिर जाएगी। दोनों पार्टी के बीच कोई मतभेद नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मंड्या लोकसभा क्षेत्र में गठबंधन समन्वय समिति अध्यक्ष सिद्धरामय्या ने स्थानीय नेता और कार्यकर्ताओं से चर्चा की है। वहां के सभी मतभेद खत्म हो गए हैं।उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता निखिल के समर्थन में प्रचार करने लगे हैं। सिद्धरामय्या और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा संयुक्त रूप से सभी क्षेत्रों में प्रचार करेंगे।

चुनाव आयोग से शिकायत
गुंडूराव ने बताया कि मंड्या निर्दलीय उम्मीदवार सुमालता के चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के ध्वज का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसकी चुनाव आयोग से शिकायत की गई है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned