भगवान की वाणी ही सच्चा सहारा: आचार्य चंद्रयश

  • सिद्धाचल स्थूलभद्र धाम में प्रवचन

By: Santosh kumar Pandey

Published: 21 Jul 2021, 09:11 AM IST

बेंगलूरु. सिद्धाचल स्थूलभद्र धाम में आचार्य चंद्रयश सूरीश्वर ने कहा कि संसार रूपी मायाजाल और कर्मो के दलदल में फंसे मनुष्य को बचाने की शक्ति केवल भगवान के पास है। हे प्रभु! मुझे बचाओ का आर्तनाद यदि हमारे अंतर से निकलेगा तो परमात्मा की वाणी भव सागर में भटकती आत्मा को बचाने में मार्गदर्शक, तारक सिद्ध हो सकती है।

परमात्मा की वाणी पर अडिग श्रद्धा अटूट विश्वास और अटल आस्था होगी तो आत्मा का उद्धार जरूर होगा।
उन्होंने कहा कि निरंतर प्रभु वाणी का चिंतन और मनन हमें पाप करने से रोकता है और पाप कर्मों से मुक्ति दिला सकता है। भगवान महावीर गौतमस्वामी से कहते हैं कि गौतम तू एक क्षण का भी प्रमाद मत कर। एक पल के लिए भी जागृति की अवस्था मत खो।

आचार्य ने कहा कि आज की जीवन शैली के कारण टीवी आदि साधनों के कारण संस्कारों का पतन हो रहा है। ऐसे में पाप कर्म भी बढ़ रहे हैं। इसके बावजूद सांसारिक बंधनों से छुटकारा पाना है तो प्रभु की वाणी का सहारा लेना होगा। एक मात्र वही सच्चा सहारा है जो हमें बचा सकता है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned