स्वच्छ समाज के लिए अच्छे परिवार जरूरी: आचार्य देवेंद्रसागर

  • जयनगर में प्रवचन

By: Santosh kumar Pandey

Published: 11 May 2021, 10:19 PM IST

बेंगलूरु. राजस्थान जैन मूर्तिपूजक संघ जयनगर में आचार्य देवेंद्रसागर सूरी ने कहा कि हमारे शास्त्रों में परिवार को एक तीर्थ कहा गया है। लिहाजा, अपने परिवार को स्नेह, सम्मान, समय और ध्यान दें। सभ्य परिवारों के समूह से सभ्य समाज का निर्माण होता है। इसके विपरीत समाज में बुरे आचरण का अनुसरण करने वाला एक परिवार पूरे समाज के लिए अभिशाप सिद्ध हो सकता है। इस कारण स्वच्छ समाज के लिए अच्छे परिवारों का होना जरूरी है।

आचार्य ने कहा कि हमारी संस्कृति विश्व को एक परिवार की तरह मानती है। गीता के श्लोकों से निकले संदेश सर्वव्यापी सार्वकालिक और सार्वभौमिक हैं। सामाजिक और आध्यात्मिक मूल्यों के निर्वाह की सीख लेने की जरूरत है। एक-एक सूत्र जीवन सुधार के लिए नई व्यवस्था देते हैं।

लोगों के जीवन को सरल बनाने के लिए अध्यात्मवाद की प्रेरणा अनुकरणीय है। इसलिए हमें धर्म, यानी धारणा की नीति पर चलते हुए काम करने की जरूरत है। सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखकर समाज का नवनिर्माण करना हमारी संस्कृति और सभ्यता में निहित है, और यह हमें हमारे ऋषि, मुनियों, संतों और महात्माओं की देन भी है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned