सद्भावना, नैतिकता एवं नशामुक्ति से आए अच्छाई-आचार्य महाश्रमण

आचार्य श्रीरंगपट्टन से मैसूरु पहुंचे

मैसूरु. कर्नाटक राज्य का प्रसिद्ध शहर मैसूरु। चंदन नगरी, महलों की नगरी से प्रसिद्ध जहां विश्व प्रसिद्ध वृंदावन गार्डन है जहां जगत प्रसिद्ध दशहरा उत्सव मनाया जाता है। महादेवी चामुंडेश्वरी का विश्व प्रसिद्ध मंदिर है। ऐतिहासिक नगर मैसूरु में आचार्य महाश्रमण का पदार्पण हुआ।

सद्भावना, नैतिकता एवं नशामुक्ति से आए अच्छाई-आचार्य महाश्रमण

आचार्य 12 किलोमीटर का विहार कर श्रीरंगपट्टन से जेएसएस मेडिकल कॉलेज पहुंचे। कॉलेज के प्रमुख शिवराज देशीकेंद्र स्वामी एवं कनकगिरी मठ के स्वस्तिक भट्टारक भुवनकीर्ति ने आचार्य महाश्रमण का स्वागत किया।
यहां आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में विशाल जनमेदिनी को सम्बोधित करते हुए आचार्य महाश्रमण ने कहा कि आदमी के जीवन में अहिंसा, संयम और तप है तो मानना चाहिए उसके जीवन में धर्म है। हम जैन धर्म जुड़े हैं। 24 तीर्थंकरों में अंतिम तीर्थंकर भगवान महावीर लगभग 2600 वर्ष पहले इस धरती पर विराजमान थे। वर्तमान का जैन धर्म भगवान महावीर से संबंधित है इसकी दो शाखाएं दिगंबर और श्वेतांबर है। श्वेेतांबर मूर्तिपूजक और अमूर्तिपूजक हैं। हम अमूर्तिपूजक जैन श्वेतांबर तेरापंथ संप्रदाय से हैं।

सद्भावना, नैतिकता एवं नशामुक्ति से आए अच्छाई-आचार्य महाश्रमण

आचार्य ने कहा कि तेरापंथ यानी हे प्रभो यह तुम्हारा पंथ है। हम तो पथिक हैं। हमारे पहले गुरु आचार्य भिक्षु थे। उन्हीं की आचार्य परंपरा में नवें गुरु आचार्य तुलसी 50 वर्ष पहले कर्नाटक पधारे थे। वर्तमान में हम अहिंसा यात्रा कर रहे हैं, जो दिल्ली से 2014 में शुरू हुई थी। विभिन्न देशों व राज्यों से होती हुई कर्नाटक में प्रवर्धमान है। इस यात्रा में तीन बातों का प्रचार प्रसार करके उसके संकल्प लोगों को स्वीकार करा रहे हैं। सभी के जीवन में अच्छाई आए, अहिंसा और मैत्री रहे। आचार्य ने मैसूर वासियों को अहिंसा यात्रा के संकल्प स्वीकार करवाए।

शिवरात्रि देशीकेंद्र स्वामी ने आचार्य महाश्रमण का अभिवादन करते हुए कहा कि महाश्रमण अहिंसा यात्रा करते मैसूर आए हैं। अहिंसा से विश्व का कल्याण हो सकता है। स्वागत के क्रम में कनकगिरी मठ के भट्टारक स्वस्तिक भुवनकीर्ति, स्थानीय सभा अध्यक्ष महेंद्र नाहर, मूर्तिपूजक समाज से अशोक दांतेवडिय़ा, स्थानकवासी समाज से तेजराज नंगावत, दिगंबर समाज से विनोद बाकलीवाल, अग्रवाल समाज से डॉ. कृष्ण मित्तल, स्वागताध्यक्ष मधुसूदन, पूर्व विधायक टोंटादाचार्र्य, कैलाश देरासरिया ने भावाभिव्यक्ति दी। तेरापंथ महिला मंडल व तेरापंथ युवक परिषद ने अभिवंदना में प्रस्तुति दी। जेएसएस मेडिकल कॉलेज पधारने से पूर्व मार्ग में आचार्य महावीर हॉस्पिटल एवं वहां स्थित महावीर जैन मंदिर में भी गए।

Yogesh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned