कश्मीर में बड़े बदलाव की तैयारी में सरकार, स्कूलों और मंदिरों का होगा सर्वे

कश्मीर में बड़े बदलाव की तैयारी में सरकार, स्कूलों और मंदिरों का होगा सर्वे
कश्मीर में बड़े बदलाव की तैयारी में सरकार, स्कूलों और मंदिरों का होगा सर्वे

Santosh Kumar Pandey | Publish: Sep, 23 2019 06:54:29 PM (IST) | Updated: Sep, 23 2019 06:54:30 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

जिन हाथों में stone होते थे उनमें थमाएंगे laptop , Union Minister of State for Home G. Kishan Reddy said कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद अब valley is ready for big change

बेंगलूरु. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी.किशन रेड्डी ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद अब घाटी बड़े बदलाव के लिए तैयार है। घाटी के जिन युवाओं के हाथों में पत्थर होते थे, वे हाथ अब लैपटॉप थामेंगे। जम्मू-कश्मीर का युवा वर्ग अब अपने सुनहरे भविष्य को साकार करने को तैयार है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 1990 के दशक के बाद से जम्मू-कश्मीर में जितने भी स्कूल और मंदिर बंद हुए हैं, उनका सर्वेक्षण कराने का आदेश दिया है। इसके लिए एक समिति गठित की गई है। रिपोर्ट के अनुरूप बंद पड़े स्कूलों को दोबारा खोलने का निर्णय किया जाएगा।

क्या आपने यह पढ़ा: https://www.patrika.com/bangalore-news/constitution-could-not-apply-in-jammu-and-kashmir-due-to-congress-5129148/

घाटी में पिछले तीन दशकों के दौरान करीब 50 हजार मंदिरों के बंद होने का दावा करते हुए रेड्डी ने कहा कि ऐसे सभी मंदिरों का पूरा ब्यौरा तैयार किया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के पांव पसारने के बाद न सिर्फ वहां से कश्मीरी पंडितों का पलायन हुआ, बल्कि मंदिरों को भी निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा कि इनमें से कुछ मंदिर नष्ट हो गए और कई मंदिरों में मूर्तियां टूटी हुई हैं। ऐसे सभी मंदिरों का सर्वेक्षण कराकर उन्हें फिर से खोलने की योजना है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned