सुरक्षा उपकरणों की खरीद में किसी भी जांच के लिए तैयार

चीन से 2100 रुपए देकर पीपीई खरीदे जाने का झूठा आरोप

By: Sanjay Kulkarni

Published: 24 Jul 2020, 09:38 AM IST

बेंगलूरु . सिद्धरामय्या के भ्रष्टाचार के आरोप खारिज करते हुए उपमुख्यमंत्री डॉ सीएन अश्वथ नारायण ने कहा है कि राज्य सरकार किसी भी जांच के लिए तैयार है।विधानसभा सभागार में सिद्धरामय्या के आरोपों का जबाव देने के लिए गृहमंत्री बसवराज बोम्मई, राजस्व मंत्री आर अशोक, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्रीरामुलु, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में उपमुख्यमंत्री डॉ सीएन अश्वथनारायण ने कहा कि मार्च माह में देश में कहीं भी व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) का उत्पादन नहीं होने के कारण चीन से 3 लाख पीपीई फ्लिपकार्ट के माध्यम से खरीदे गए थे।

इसके अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं था। देश में पीपीई का उत्पादन शुरू होने के बाद 330 रुपए के मूल्य पर 1 लाख 50 हजार पीपीई खरीदे गए हैं। इसके बावजूद सिद्धरामय्या ने चीन से 2100 रुपए देकर पीपीई खरीदे जाने का झूठा आरोप लगाया है। अभी भी फ्लिपकार्ट पर चीन के पीपीई 3900 रुपए में बेचे जा रहे हंै।

गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि गृह, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, महिला एवं बाल विकास, सार्वजनिक शिक्षा, समाज कल्याण, नगर निकाय प्रशासन विभाग समेत विभिन्न विभागों से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए 2 हजार 118 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। नेता प्रतिपक्ष का 4 हजार 161 करोड़ खर्चे करने का आरोप बेबुनियाद है। कांग्रेस नेता 1 हजार वेंटिलेटर खरीदने का आरोप लगा रहे हैं लेकिन अभी तक केवल 248 वेेंटिलेटर ही खरीदे गए हैं।

चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर ने कहा कि हम इस मामले की किसी भी जांच के लिए तैयार हैं। कांग्रेस के नेता अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का बेबुनियाद आरोप लगाकर उनका अपमान कर रहें है। जनता यह सब कुछ देख रही है। एक जिम्मेदार प्रतिपक्ष का दायित्व निभाने के बदले कांग्रेस के नेता ऐसी विषम स्थिति में ओछी राजनीति में व्यस्त है।

आरोप-प्रत्यारोप छोड़कर समस्या का समाधान करें : कुमारस्वामी

बेंगलुरु. भाजपा तथा कांग्रेस के बीच जुबानी जंग पर आक्रोश व्यक्त करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने उन्हें जनता के स्वास्थ्य पर ध्यान देने की हिदायत दी है। उन्होंने ट्विटर पर कहा कि यह समय दलगत राजनीति का नहीं है। सभी को साथ मिलकर इस चुनौती का सामना करना होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा सरकार की ओर से स्पष्टीकरण देकर इस मामले का पटाक्षेप करें।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned