पुलवामा में शहीद हुए मंड्या के गुरु, गांव में पसरा मातम

जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार शाम हुए आतंकी हमले में मंड्या के जिले के मद्दूर तालुक के एच. गुरु शहीद हो गए।

By: शंकर शर्मा

Published: 15 Feb 2019, 11:06 PM IST

बेंगलूरु. जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार शाम हुए आतंकी हमले में मंड्या के जिले के मद्दूर तालुक के एच. गुरु शहीद हो गए। वे २८ वर्ष के थे। सात वर्ष पूर्व वे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में शामिल हुए थे।


गुरु अपने पिता होन्नप्पा और माता चिक्कतवयम्मा के के साथ गुडकेरे गांव के गरीबी कालोनी में रहते थे। छह महीने पूर्व ही गुरु की शादी कनकपुरा निवासी कलावती के साथ हुई थी। लगभग 7 वर्ष पहले सेना में भर्ती हुए थे। गांव के ही सरकारी स्कूल पढ़ाई करने के बाद गुरु राष्ट्र सेवा के लिए सीआरपीएफ में भर्ती हो गए। कुछ महीने पूर्व तक उनकी पोस्टिंग झारखंड में थी।


गुरु के शहीद होने की खबर आने के बाद से उनके पैतृक गांव में हर किसी की आंखें नम हैं। शोक संतप्त परिवार को सांत्वना देने के लिए देर रात तक लोगों का उनके घर पर जमावड़ा लगा रहा।

मंत्री पुट्टरंग को एसीबी का नोटिस
बेंगलूरु. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री सी. पुट्टरंगा शेट्टी को नोटिस जारी कर तीन दिन के अंदर पूछताछ के लिए पेश होने को कहा है। विधानसौधा पुलिस ने गत माह ६ जनवरी को पश्चिम द्वार के पास बगैर दस्तावेजों के जब्त २५.७६ लाख रुपए नकदी के साथ मंत्री के कार्यालय में काम करने वाले व्यक्ति मोहन कुमार को गिरफ्तार किया था। यह मामला एसीबी को सौंपा गया।

अब एसीबी के पुलिस अधीक्षक ने मंत्री को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए अगले तीन दिन में पेश होने को कहा है। एसीबी ने इस केस के संबंध में मोहन कुमार सहित ठेकेदार सतीश, उमेश तथा ज्योति प्रकाश को भी गिरफ्तार करके पूछताछ पूरी कर ली है और सभी न्यायिक हिरासत में हैं।

सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार किए गए लोगों ने पूछताछ के दौरान सबूतों के बताया कि यह रकम मंत्री की थी। इसी के मद्देनजर एसीबी ने मंत्री को पूछताछ के लिए पेश होने का नोटिस जारी किया है। वहीं इतने कम समय में पूछताछ के लिए पेश होने में मंत्री ने असमर्थता जताई है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned