कुमारस्वामी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार : 15 दिन बाद 25 मंत्रियों ने ली शपथ

देशपांडे, शिवकुमार, रेवण्णा, काशमपुर, देवेगौड़ा बने मंत्री, जयमाला अकेली महिला मंत्री, विभागों का बंटवारा आज संभव

बेंगलूरु. जनता दल-एस और कांग्रेस गठबंधन सरकार के सत्ता संभालने के एक पखवाड़े बाद मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने बुधवार को अपने दो सदस्यीय मंत्रिमंडल का पहला विस्तार किया। इसमें २५ काबीना मंत्री शामिल किए गए। इनमें १४ कांग्रेस और ९ जद-एस के हैं जबकि एक-एक बसपा और केपीजेपी (कर्नाटक प्रज्ञावंता जनता पार्टी) के हैं। २३ मई को जद-एस नेता कुमारस्वामी और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ.जी. परमेश्वर ने उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी, लेकिन दोनों दलों के बीच विभागों के बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बन पाने के लिए मंत्रिमंडल विस्तार में देरी हुई।
राजभवन के ग्लास हाउस में दोपहर आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल वजूभाई वाळा ने सभी नए मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। सबसे पहले मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बड़े भाई और जद-एस के एच. डी. रेवण्णा और फिर कांग्रेस के आर. वी. देशपांडे ने शपथ ली।
कांग्रेस के जमीर अहमद को छोड़कर को बाकी मंत्रियों ने कन्नड़ में शपथ ली। जमीर ने अंग्रेजी में मां और अल्लाह के नाम पर शपथ ली। आम्बेडकर के अंदाज में नीले सूट में पहुंचे बसपा के एन. महेश ने भगवान बुद्ध, संत बसवेश्वर और आम्बेडकर के नाम पर शपथ ली। जद-एस के एम सी मनगोली और कांग्रेस के शिवानंद पाटिल ने संत बसवण्णा के नाम पर शपथ ली। बाकी मंत्रियों ने ईश्वर के नाम पर शपथ ली।
गठबंधन के विधायकों को भाजपा के ऑपरेशन कमल से बचाने में अह्म भूमिका निभाने वाले कांग्रेस के डी. के. शिवकुमार और मैसूरु जिले के चामुंडेश्वरी सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या को हराने वाले जद-एस के जी. टी. देवेगौड़ा को भी मंत्री बनाया गया है। अभिनेत्री एवं विधान पार्षद जयमाला अकेली महिला मंत्री हैं। नए मंत्रियों में २४ विधान सभा के सदस्य हैं जबकि एक विधान परिषद की सदस्य हैं। शपथ ग्रहण के बाद कुमारस्वामी ने नए मंत्रियों के साथ अनौपचारिक बैठक की। हालांकि, देर रात तक विभागों का बंटवारा नहीं हो पाया था। सूत्रों का कहना है कि मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवार गुरुवार सुबह होगा।

oathoathoath

अंतिम क्षणों तक बदलती रही सूची
दोनों दलों में मंत्री पद के दावेदारों की संख्या ज्यादा होने के कारण अंतिम क्षणों तक सूची में नाम बदलते रहे। जद-एस कोटे से मंत्री बनाए जाने वाले नेताओं की सूची में मद्दूर के विधायक और कुमारस्वामी के भाई एच डी रमेश के ससुर डी. सी. तमण्णा और सिंदगी के विधायक एस. सी. मनगोली का नाम अंतिम क्षणों में जुड़ा, जबकि सकलेशपुर के विधायक एच. के. कुमारस्वामी का नाम सूची से हट गया। कांग्रेस में भी अंतिम क्षणों में दिनेश गुंडूराव, एच. के. पाटिल, एम. बी. पाटिल, शामनूर शिवशंकरप्पा, रामलिंगा रेड्डी, आर. रोशन बेग का नाम सूची से हट गया और गोकाक के विधायक रमेश जारकीहोली, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एन एस शिवशंकर रेड्डी एवं पावगढ़ के विधायक वेंकटरमणप्पा का नाम जुड़ गया। दोनों ही दलों में मंत्री नहीं बनाए जाने से वरिष्ठ नेता काफी नाराज हैं। कांग्रेस के विधायक सी. एस. शिवल्ली, सतीश जारकीहोली, तनवीर सेत और जद-एस के बसवराज होरट्टी भी नाराज हैं।
सात पद खाली
विधायकों में असंतोष को देखते हुए मंत्रियों के सभी पद नहीं भरे गए हैं। दोनों दलों ने नाराज विधायकों को राजी करने की कोशिश के तहत ७ पद खाली रखे हैं।
राज्य में दो सदन वाले विधानमंडल के कारण मुख्यमंत्री सहित ३४ सदस्यीय मंत्री परिषद हो सकती है। दोनों दलों के बीच सत्ता के बंटवारे को लेकर हुए समझौते के मुताबिक कांग्रेस के पास उपमुख्यमंत्री सहित २२ पद हैं, जबकि जद-एस के पास मुख्यमंत्री सहित १२ पद हैं। कांग्रेस ने अपने कोटे से केपीजेपी और जद-एस ने बसपा विधायक को मंत्री बनाया है।
बसपा का चुनाव पूर्व जद-एस से गठबंधन था, जबकि केपीजेपी के विधायक ने चुनाव परिणाम आने के बाद कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा की थी। २७ सदस्यीय मंत्रिमंडल के गठन के बाद ७ पद रिक्त रह गए हैं, जिसमें से ६ कांग्रेस और एक जद-एस का है।
मनगोली उम्रदराज, प्रियांक सबसे युवा
जद-एस कोटे से मंत्री बने ८२ वर्षीय मनगोली मंत्रिमंडल के सबसे उम्रदराज मंत्री हैं, जबकि दूसरी बार मंत्री बने ३९ वर्षीय प्रियांक खरगे सबसे युवा हैं। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे के बेटे प्रियांक पिछली सिद्धरामय्या सरकार में भी मंत्री थे।

 

oath

मंत्रिमण्डल पर एक नजर

मुख्यमंत्री: एच.डी. कुमारस्वामी (जद-एस)
उपमुख्यमंत्री: जी. परमेश्वर (कांग्रेस)

कांग्रेस
१. आर. वी. देशपांडे
२. डी. के. शिवकुमार
३. के. जे. जार्ज
४. कृष्ण बैरेगौड़ा
५. एन. एस. शिवशंकर रेड्डी
६. रमेश जारकीहोली
७. प्रियांक खरगे
८. यू. टी. खादर
९. बी. जेड. जमीर अहमद खान
१०. शिवानंद पाटिल
११. वेंकटरमणप्पा
१२. राजशेखर पाटिल
१३. पुट्टरंगा शेट्टी
१४. जयमाला

जद-एस
१. एच. डी. रेवण्णा
२. बंडप्पा काशमपुर
३. जी. टी. देवेगौड़ा
४. डी. सी. तमण्णा
५. एम. सी. मंगुली
६. एस. आर. श्रीनिवास
७. वेंकटराव नाडगौड़ा
८. सी. एस. पुट्टराजू
९. सा. रा. महेश

अन्य
१. आर. शंकर (केपीजेपी)
२. एन. महेश (बसपा)

BJP Congress
कुमार जीवेन्द्र झा Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned