स्वास्थ्य विभाग ने कहा, सामुदायिक संक्रमण के सबूत नहीं

राज्य में कोविद -19 के दो ऐसे पॉजिटिव मामले सामने आए हैं जिनमें मरीजों को वायरस से संक्रमित देशों में जाने का इतिहास नहीं है।

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 28 Mar 2020, 03:10 PM IST

बेंगलूरु. राज्य में शुक्रवार को कोविद -19 के दो ऐसे पॉजिटिव मामले सामने आए हैं जिनमें मरीजों के वायरस से संक्रमित देशों में जाने का इतिहास नहीं है। दोनों किसी विदेशी या विदेश से लौटे व्यक्ति के सम्पर्क में भी नहीं आए हैं। इस वजह से कोरोना के सामुदायिक संक्रमण की आशंकाएं जताई जा रही हैं।

हालांकि राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने ऐसी अटकलों का खंडन किया है और कहा है कि सामुदायिक संक्रमण के कोई सबूत नहीं मिले हैं।
बता दें कि शुक्रवार को तुमकुरु के एक 60 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक ने कोरोना पीडि़त देशों की यात्रा नहीं की थी। हालांकि वह मार्च में दिल्ली गया था और वहां से लौटा था।

शुक्रवार को आश्चर्यजनक रूप से एक दस माह के बच्चे को कोरोना संक्रमण का पता चला। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि बच्चा कुछ दिनों पहले केरल गया था। उसका अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त सचिव जावेद अख्तर ने सामुदायिक संक्रमण की आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि दोनों नए मरीजों ने ऐसी जगह की यात्रा की थी जहां पर कोविद-१९ फैला है।

Corona virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned