70 मिमी बारिश,पानी-पानी हुआ शहर

बेंगलूरु सहित आसपास के इलाकों में शनिवार देर रात मूसलाधार बारिश के चलते एक बार फिर निचले इलाकों में पानी भर गया

By: शंकर शर्मा

Published: 11 Sep 2017, 09:47 PM IST

बेंगलूरु.बेंगलूरु सहित आसपास के इलाकों में शनिवार देर रात मूसलाधार बारिश के चलते एक बार फिर निचले इलाकों में पानी भर गया। सडक़ें नहरों में बदल गईं और कई तालाबों के तटबंध टूटने से पानी बस्तियों में जा घुसा। वृषभावति नदी और तमाम बरसाती नाले उफान पर होने से बारिश का पानी सडक़ों पर भरने से यातायात एकदम थम गया।

दो दिन पहले की तेज बारिश से बेहाल शहर अभी तक संभला भी नहीं है और शनिवार को मध्य रात्रि से लेकर सुबह तक हुई तेज बारिश ने हालात को और भी बदतर कर दिया। मौसम विभाग के मुताबिक शहर में पिछले २४ घंटे के दौरान ७० मिमी बारिश दर्ज की गई।


बारिश के कारण जानमाल की हानि का सिलसिला बरकरार है। मकान ढहने से दो लोग बुरी तरह घायल हो गए। अग्निशमन विभाग, एनडीआरएफ तथा बीबीएमपी के कर्मचारियों ने बारिश में फंसे लोगों को समय पर राहत पहुंचाकर अनेक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। राजधानी बेंगलूरु में अनेक तालाबों के तटबंध टूूटने के कारण सडक़ें नहरों में तब्दील हो गई। निचले इलाकों में पानी भरने से अनेक लेआउट व अपार्टमेंट्स के भूतल जलमग्न हैं।


मकान ढहने से दो लोग घायल
रविवार को तडक़े एक बजे शुरू हुई बारिश का दौर सारी रात जारी रहा जिस वजह से मैसूरु रोड पर आर.वी. कॉलेज के पास वृषभवति उफान पर बहने लगी। नदी का पानी सडक़ पर बहने से मैसूरु रोड पर यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ। देवर जीवनहल्ली के अंबेडकर कॉलेज के निकट पुलिस चौकी के पास एक मकान ढहने से घर में मौजूद गुरुराज व एक अन्य महिला बुरी तरह घायल हो गए। लगातार हुई बारिश के कारण मागड़ी रोड के गोपालपुरा में एक कच्चा मकान ढह गया लेकिन सौभाग्यवश किसी को चोट नहीं आई।


तालाबों के तटबंध टूटे, गांव में पानी
केंगेरी के निकट दुबासीपाल्या तथा कुम्मघट्टा नामक तालाब के तटबंध टूटने से सारा पानी सडक़ों पर बहने लगा। मैसूरु की तरफ जाने वाली एक बस पानी में फंसने से बस में सवार 36 यात्रियों को अग्निशमन कर्मियों ने सुरक्षित निकाल कर नाव से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। भारी बारिश के कारण हेब्बाल के निकट संजय नगर में एक बड़ा पेड़ गिरने से रास्ता बंद हो गया।

सूचना मिलने पर पालिका के अमले ने घटनास्थल पर पहुंचकर पेड़ हटाया। दोड्ड बिदरीकल्लु वार्ड में बरसाती नाले उफनने से पूरे गांव में पानी भर गया और स्थानीय लोगों को सारी रात जागकर बितानी पड़ी। इसी तरह बन्नेरघट्टा रोड पर गोट्टीगेरे के पास एक अपार्टमेंट में पानी घुसने से भूतल में रहने वाले लोग अंदर फंस गए। शहर के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित अनुग्रह लेआउट के घरों में घुुसे पानी का स्तर 5 फीट तक पहुंच गया जिस वजह से लोगों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ा। इलेक्ट्रॉनिक्स सिटी के आसपास भी भारी बारिश हुई जिस वजह से इन्फोसिस कंपनी परिसर की एक दीवार ढह गई और पानी कंपनी परिसर में घुस गया। हालंाकि, हादसे में किसी को चोट नहीं आई।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned