scripthoax bomb in RajBhavan, Kolar resident arrested after investigation | राजभवन में बम की अफवाह, जांच के बाद कोलार निवासी व्‍यक्ति गिरफ्तार | Patrika News

राजभवन में बम की अफवाह, जांच के बाद कोलार निवासी व्‍यक्ति गिरफ्तार

locationबैंगलोरPublished: Dec 12, 2023 11:59:26 pm

Submitted by:

Sanjay Kumar Kareer

सोमवार देर रात राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के नियंत्रण कक्ष में कॉल आया जिसमें दावा किया गया कि बम किसी भी समय फट सकता है। यह सुन कर अधिकारी सकते में आ गए। बेंगलूरु पुलिस को तुरंत सतर्क किया गया और मौके पर भेजा गया।

hoax-call.jpg
बेंगलूरु. राज्यपाल का सरकारी आवास सोमवार रात एक गुमनाम कॉल के बाद अधिकारियों के रडार पर आ गया, जिसमें धमकी दी गई थी कि अंदर बम रखा हुआ है। हालाँकि, व्यापक खोज के बाद पुलिस ने निष्कर्ष निकाला कि कॉल संभवत: फर्जी थी।
सोमवार देर रात राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के नियंत्रण कक्ष में फोन आया जिसमें दावा किया गया कि बम किसी भी समय फट सकता है। इसके बाद अधिकारी सकते में आ गए। बेंगलूरु पुलिस विभाग को तुरंत सतर्क किया गया और मौके पर भेजा गया।
पुलिस ने राज्यपाल के आधिकारिक आवास की तलाशी ली लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। अधिकारियों ने पता लगाया है कि कॉल उत्तरी कर्नाटक के बीदर जिले से की गई थी, जो महाराष्ट्र की सीमा पर है। हालांकि, अपराधी का पता लगाने की कोशिश की जा रही है।
बेंगलूरु के पश्चिम डिवीजन के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) शेखर एच टेककन्नावर ने संवाददाताओं से कहा, एनआइए नियंत्रण कक्ष को आधी रात में एक गुमनाम कॉल मिली, जिसके बाद बेंगलूरु पुलिस सतर्क हो गई। रिपोट्र्स के मुताबिक, राज्यपाल थावर चंद गहलोत उस वक्त बेलगावी में थे और उन्हें कोई खतरा नहीं था।
कोलार निवासी गिरफ्तार

इस मामले में सिटी पुलिस ने कोलार से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। 34 वर्षीय संदिग्ध भास्कर एस. कोलार के मुलबागल के वड्डहल्ली का रहने वाला है। भास्कर सोमवार को शहर आया था। जब वह वापस लौट रहा था, तो राजभवन के पास से गुजरते समय उसने बिना किसी स्पष्ट कारण के फोन लगाकर धमकी दी। भास्कर ने कंट्रोल रूम कर्मियों से कन्नड़ में बात की। पुलिस ने प्रथम दृष्टया यह पाया है कि संदिग्ध को अपने कृत्य की गंभीरता के बारे में पता नहीं था।
कुछ ही दिन पहले बेंगलूरु के लगभग 48 स्कूलों को धमकी भरे ईमेल मिले, जिसमें कहा गया था कि उनके परिसर में बम लगे हैं। जिससे शहर में दहशत की स्थिति पैदा हो गई थी। बाद मे ंपुलिस ने व्यापक सर्च अभियान के बाद कहा कि सभी संदेश फर्जी थे।

ट्रेंडिंग वीडियो