आवासीय योजनाएं लंबित, सोमण्णा इस्तीफा देें: ईश्वर खन्ड्रे

प्रदेश कांग्रेस के कार्याध्यक्ष ईश्वर खन्ड्रे ने कहा

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 15 Sep 2020, 03:22 PM IST

बेंगलूरु. प्रदेश कांग्रेस के कार्याध्यक्ष ईश्वर खन्ड्रे ने कहा कि प्रदेश में आवासीय योजनाएं रुकी हुई हैं इसलिए आवासीय मंत्री वी.सोमण्णा को नैतिक जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा दे देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सोमण्णा की कार्यशैली ठीक नहीं है। उन्होंने पंचायत विकास अधिकारियों की तुलना राक्षसों से की है। इसके विरोध में पंचायत विकास अधिाकरियों ने धरना दिया और सोमण्णा को माफी मांगनी पड़ी पड़ी।

सोमण्णा अवासीय मंत्री बनने के बाद आवासीय परियोजनाओं का कार्य स्थगित होगया है। केवल भावनात्मक बयानों से आवास के लाभार्थियों को गुमराह कर रहे है। सिद्धरामय्या सरकार ने पांच साल की अवधि में 15 लाख आवास निर्मित किए थे। इसके लिए कुल १५ हजार करोड़ रुपए खर्च किए थे। अभी 6.84 लाख आवास का कार्य बाकी है। इसके लिए सरकार को किस्तो में अनुदान जारी करना है।

उन्होंने कहा क भाजपा सरकार ने सिद्धरामय्या को बदनाम करने के उद्देश से इन आवास की गुणवत्ता की जांच कर रिपोर्ट पेश करने की जि मेदारी एक निजी कंपनी वी.जी.लैप को सौंपी थी। इस ंकंपनी ने दो लाख निवास की गुणवत्ता की जांच कर सरकार को रिपोर्ट पेश की है। रिपोर्ट में दो लाख आवास की गुणवत्ता अच्छी बताई गई है। इस कंपनी ने अभी 3.65 लाख आवास की जांच नहीं की।

उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत के लिए आवंटित 2.50 लाख आवास रद्द किए गए। 5.15 लाख लंबित आवासों में से 1.90 लाख आवास को नीव डाला गया है। 1.50 लाख आवास का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। कई लाभार्थियों ने बैंंकों से ऋण लेकर निर्माण कार्य शुरू किया है। सरकार ने गुणवत्ता के नाम पर जांच कराने के बहाने इन आवास को ढहाकर फिर से निर्मित करने का आदेश दिया है।

ठेकेदारों को 200 करोड़ रुपए का अनुदान जारी

बेंगलूरु में आवासीय कालोनियों का निर्माण कार्य अभी नहीं हुआ। ठेकेदारों को 200 करोड़ रुपए का अनुदान जारी किया गया है। कर्नाटक कच्ची बस्ती उन्मूलन बोर्ड को ४०० करोड़ का अनुदान दिया गया है। राजीव गांधी आवासीय निगम के भ्रष्ठ अधिकारी महादेव के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) जांच कर रहा है। इस अधिकारी को सेवा से निंलंबित करने के बजाए उसे पदोन्नति दी गई है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned