scriptHuman birth is priceless - Sadhvi Bhavyagunashree | मनुष्य जन्म आनमोल है-साध्वी भव्यगुणाश्री | Patrika News

मनुष्य जन्म आनमोल है-साध्वी भव्यगुणाश्री

locationबैंगलोरPublished: Nov 25, 2022 07:37:06 pm

Submitted by:

Yogesh Sharma

साध्वीवृन्द का विहार

मनुष्य जन्म आनमोल है-साध्वी भव्यगुणाश्री
मनुष्य जन्म आनमोल है-साध्वी भव्यगुणाश्री
बेंगलूरु. नेलमंगला में विराजित साध्वी भव्यगुणाश्री ने कहा कि शरीर के सुखशीलता की निरपेक्षता ही केवल शरीर को अच्छी तरह रखेगी। शरीर के बारे में चिंता करने से शरीर में सुधार नहीं आने वाला। अपितु, आत्मसमाधि का विनाश सामने दिखने लगेगा। भले ही शरीर में सुधार न हो, लेकिन समाधि को नष्ट करने की आवश्यकता नहीं है। शरीर से क्या करना है। साधना ही ना, तो जो शरीर है, जैसा भी शरीर है, उससे मानसिक समाधि की अपूर्व साधना नहीं कर सकते हैं। शरीर की सुंदरता और सुविधा तो वासना के दायरे का विस्तार करती है। जैन शासन तो ऐसा कहता है कि आत्मा के वीर्य का उपयोग, त्याग-तपस्या, स्वाध्याय-ध्यान-विनय-वैय्यावच्च आदि में कर के शरीर के पास से काम निकाल लेना है। इसमें शरीर के रस-कस यदि कम होते हैं तो उसमें डरने का क्या है। उसके विपरीत, यदि वासना का भूत उससे दूर रहता है, तो वह तो चमत्कार कहलाएगा। भले ही आप ग्लान अवस्था में बिना रस कस के हो जाएं, तो भी क्या हुआ। रस-कस बढ़ाने की चिंता क्यों आवश्यक है। मन तो आपका मजबूत है ही, जिसका प्रमाण विरुद्ध कोटि के विचारों का प्रभाव है। यदि इस तरह के चकोर मन की शक्ति को आत्मा के विचारों में बदल दिया जाता है, तो आप को नहीं लगता कि आनंद में और निरपेक्षभाव में जीवन बसर हो सकता है।
साध्वी शीतलगुणाश्री ने कहा कि जीत निश्चित हो तो, कायर भी जंग लड़ लेते हैं। बहादुर तो वह लोग हैं,जो हार निश्चित हो फिर भी मैदान नहीं छोड़ते हैं। भरोसा ईश्वर पर है, तो जो लिखा है तकदीर में, वह ही पाओगे। मगर, भरोसा अगर खुद पर है,तो ईश्वर वही लिखेगा, जो आप चाहोगे। भरत कुमार कानूंगा ने बताया कि साध्वी की साधना आराधना सुखपूर्वक पूर्ण हुई। शुक्रवार को सुबह लक्खनहल्ली से विहार करके नेलमंगला हासन रोड स्थित गोडा के घर विश्राम कर शाम को श्रीफार्म पहुंचे। शनिवार को सुबह पाश्र्व लब्धी धाम जैन तीर्थ पहुंचेगी। रविवार को पाश्र्व लब्धी धाम में स्थिरता रहेगी। सोमवार को टी. दासरहल्ली पहुंचने की संभावना है।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.