कर्नाटक में नहीं हो रहा रैपिड एंटीजन टेस्ट, आइसीएमआर के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन

डॉ. जी. के. सुरेश ने बताया कि कंटेनमेंट जोन की आबादी कितनी हैं, कितने फीसदी लोगों की जांच हो रही है और कितने लोग संक्रमित हुए हैं जानना जरूरी है। आंकड़े जुटाने का काम शुरू हो चुका है। सभी को जांच के अंतर्गत लाया जाएगा।

By: Nikhil Kumar

Published: 15 Sep 2020, 08:45 PM IST

- बीबीएमपी को स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों का इंतेजार
- कंटेनमेंट जोन के आंकड़ों में भी अंतर

बेंगलूरु. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने अपने नए दिशा-निर्देशों में कंटेनमेंट जोन के सभी लोगों के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट अनिवार्य की है। बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) कोविड वॉर रूम के आंकड़ों के अनुसार शहर के 17,282 कंटेनमेंट जोनों में से 14,520 जोन अब भी एक्टिव हैं और यहां के सभी लोगों की जांच होनी चाहिए। लेकिन प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए अब तक दिशा-निर्देशा जारी नहीं किए हैं। जांच शुरू नहीं हुई है।

बीबीएमपी नोडल अधिकारी (टेस्टिंग) राजेन्द्र चोलन ने बताया कि फिलहाल सिंपटोमेटिक, प्राइमरी कॉन्टैक्ट्स, सिवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन (एसएआरआइ) और इन्फ्लूएंजा लाइक इलनेश यानी आइएलआइ सहित अन्य बीमारियों से पीडि़त वरिष्ठ नागरिकों को जांच के अंतर्गत लाया गया है। ऐसे में कह सकते हैं कि कंटेनमेंट जोन के लगभग सभी लोगों की जांच हो रही है। 100 फीसदी लोगों की जांच के लिए सरकार और स्वास्थ्य विभाग के दिशा-निर्देशों का इंतेजार है। जिसके बाद जांच शुरू करेंगे।

बीबीएमपी वॉर रूम के अनुसार पांच जोन ऐसे हैं जहां एक्टिव केंटेनमेंट जोनों की संख्या सबसे ज्यादा है। आर. आर. नगर में 3155, बोमनहल्ली में 2,839, महादेवपुर में 2,410, यलहंका में 1,684 और पश्चिम क्षेत्र में 1,525 कंटेनमेंट जोन हैं।

लेकिन जोनल अधिकारी इन आंकड़ों से सहमत नहीं हैं। आर. आर. नगर जोन के कार्यवाहक अधिकारी आर. विशाल ने बताया कि उनके जोन में 1,665 एक्टिव कंटेनमेंट जोन ही हैं। कंटेनमेंट जोन में अब संक्रमितों का घर ही आता है। घर के प्राइमरी और सेकेंडरी कान्टैक्ट्स की जांच हो रही है। 40 फीसदी रैपिड एंटीजन और 60 फीसदी आरटी-पीसीआर जांच हो रही है। हर मरीज के 11 प्राइमरी कान्टैक्ट्स की जांच हो रही है। आर. आर. नगर में आरटी-पीसीआर की पॉजिटिविटी दर 12 फीसदी और रैपिड एंटीजन की पॉजिटिविटी दर नौ फीसदी है। छह सितंबर के आंकड़ों के अनुसार 12 लाख की आबादी पर आर. आर. नगर जोन में 4,938 एक्टिव मामले हैं। इनमें से आधे मरीज घर में हैं जबकि शेष का उपचार अस्पतालों और कोविड देखभाल केंद्रों में जारी है।

पश्चिम जोन के अधिकारियों के अनुसार यहां 134 एक्टिव क्लस्टर हैं। जांच जारी है। सात सितंबर को 739 रैपिड एंटीजन टेस्ट और 1,675 आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए। 134 एक्टिव क्लस्टर में छह सितंबर को 6,566 रैपिड एंटीजन टेस्ट और 1,382 आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए।

बीबीएमपी में राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के शहर कार्यक्रम प्रबंधन अधिकारी डॉ. जी. के. सुरेश ने बताया कि कंटेनमेंट जोन की आबादी कितनी हैं, कितने फीसदी लोगों की जांच हो रही है और कितने लोग संक्रमित हुए हैं जानना जरूरी है। आंकड़े जुटाने का काम शुरू हो चुका है। सभी को जांच के अंतर्गत लाया जाएगा।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned