दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ में हुआ प्रतिमा प्रवेश महोत्सव

दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ में हुआ प्रतिमा प्रवेश महोत्सव
दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ में हुआ प्रतिमा प्रवेश महोत्सव,दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ में हुआ प्रतिमा प्रवेश महोत्सव

Yogesh Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 06:23:37 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

जय-जय पाश्र्वनाथ के लगे जयकारे

अरसीकेरे. दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ, संकटमोचन पाश्र्व भैरव धाम अरसीकेरे में संकटमोचन पाश्र्वनाथ एवं मां पद्मावती की प्रतिमाओं का तीर्थ प्रवेश महोत्सव शनिवार को संपन्न हुआ। सुबह स्नात्र पूजन एवं नवग्रहादिक पाटला पूजन किया गया। तत्पश्चात सिर पर मंगल कलश रख पारम्परिक वेशभूषा में महिलाओं एवं श्रद्धालुओं का शोभायात्रा के साथ 111 इंच पाश्र्वनाथ भगवान एवं 108 इंच मां पद्मावती की प्रतिमाओं का तीर्थ में प्रवेश हुआ।

तीर्थ क्षेत्र में सजाई गई वाराणसी नगरी में आयोजित समारोह के मुख्य अतिथि बीकानेर के गणेशमल बोथरा ने जिनेश्वर परमात्मा की भक्ति से जीवन की सार्थकता बताई। उन्होंने कहा कि अनंत उपकारी अरिहंत प्रभु की भक्ति में हमें यदि पूरा जीवन भी समर्पित करना पड़े तो हम तत्पर रहें। सिद्धेश्वर गुरुदेव ने अपने प्रेरक प्रवचन में कहा कि तीर्थंकर भगवान ने जगत के सारे जीवों के कल्याण के लिए जिनवाणी का उपदेश देकर शाश्वत सुख मोक्ष का मार्ग बताया। प्रभु के मंदिर के साथ ही मन मंदिर में भी परमात्मा को बसा लिया जाए तभी भक्ति सार्थक है। अंतरराष्ट्रीय विधिकारक मनोजकुमार, बाबूमल हरण के मार्गदर्शन में विशिष्ट मंत्रोच्चार के साथ वासक्षेप अर्पण करते हुए प्रभु पाश्र्वनाथ की प्रतिमा का अनावरण गणेशमल बोथरा परिवार बीकानेर तथा पद्मावती देवी की प्रतिमा का अनावरण भंवरलाल, महेशकुमार, प्रकाशकुमार कांकरिया परिवार बिरूर ने किया। ट्रस्ट अध्यक्ष अशोककुमार सुराना ने कहा कि दक्षिण नाकोड़ा की भूमि ऐतिहासिक महत्व रखती है।

दक्षिण नाकोड़ा तीर्थ में हुआ प्रतिमा प्रवेश महोत्सव

प्राचीन काल में इस नगरी में महान संत सुब्रमण्यम स्वामी ने चातुर्मास कर कण कण को पावन कर दिया। समारोह में मंच पर विशिष्ट अतिथि न्यूयॉर्क अमेरिका के अरविन्द मोदी, मुम्बई के घनश्याम मोदी, रमेश सांखला, सुनील आहूजा बेंगलूरु, राजेश चोरडिय़ा चेन्नई, विनोद पितलिया बिरूर, प्रकाशचंद कांकरिया बिरूर,अनंत ढंढारा सूरत, केवलचंद नाहर सकलेशपुर, रिखबचंद नाहर सकलेशपुर, पोपटलाल तलेसरा कडूर, देवराज पालरेचा हासन, प्रकाश पुनमिया शिवमोग्गा, इंदु जैन, प्रकाशचंद मूथा बेंगलूरु एवं अल्पाहार लाभार्थी राजपुरोहित भरत कस्तूर पोडवाल, विमल मंछा फोदर, फले चुंदड़ी लाभार्थी रसरसना परिवार बीकनेर आदि का नाकोड़ा भैरव आराधना ट्रस्ट के चेयरमैन फूलचंद करबावाला, महासचिव ताराचंद राठोड़, उपाध्यक्ष पारसमल वेदमूथा, सुरेशकुमार वेदमूथा, सचिव मांगीलाल सुंदेशा मूथा एवं कोषाध्यक्ष शांतिलाल गुलेच्छा ने मोतियों की माला, केसरिया दुपट्टा, राजस्थानी साफा एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया। दोपहर को पाश्र्व पद्मावती महापूजन में विशिष्ट सजावट से निराली छटा देखते ही बन रही थी। शाम को पाश्र्व पद्मावती भक्ति संध्या में एक से एक बढ़कर भावपूर्ण गीतों की प्रस्तुति दी गई। समारोह में ट्रस्टी उत्तमचंद नाहर पांडिचेरी, माणकचंद नाहर चित्रदुर्गा, कमल बच्छावत, दक्षिण नाकोड़ा पाश्र्व भैरव युवा मंडल के अध्यक्ष मितेश सुराना, अखिल भारतीय नाकोडा जैन कॉन्फ्रेंस कर्नाटका के वंशराज बोहरा, मुकेश रांका, भरत रायसोनी, देवेंद्र तातेड़, दिलखुश बाफना उपस्थित थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned