बड़े शहरों में वाहनों के बढ़ते दबाव ने फुटपाथ तक को अपनी जद में ले लिया है। पैदलयात्रियों के चलने वाले स्थान पर दोपहिया बेधड़क गुजरते हैं। मगर इस महानगर में दोपहिया सवारों के लिए फुटपाथ पर चढऩे का मतलब है, वृद्धों की 'सेनाÓ से दो चार होना। जी हां! बेंगलूरु के बनशंकरी क्षेत्र में थर्ड स्टेज की सड़क में फुटपाथ पर वाहन दौड़ाने वालों के खिलाफ सीनियर सिटीजंस की यह सेना पूरे 'लाव-लश्कर' के साथ खड़ी रहती है। जो भी वाहन चालक फुटपाथ पर चढऩे की जुर्रत करता है उसे ये सेना मोर्चे पर मिलती है और फिर चालकों को कदम वापस खींचने पड़ते हैं। तस्वीरों में आप भी देखें...

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned