scriptImportance of mother-daughter relationship explained in the workshop | कार्यशाला में बताया मां-बेटी के रिश्ते का महत्व | Patrika News

कार्यशाला में बताया मां-बेटी के रिश्ते का महत्व

locationबैंगलोरPublished: Dec 19, 2023 02:14:23 pm

  • तेरापंथ महिला मंडल, विजयनगर की कार्यशाला

vijaynagar.jpg
बेंगलूरु. अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल के तत्वावधान में तेरापंथ महिला मंडल, विजयनगर की ओर से तेरापंथ भवन में मां का दिशाबोध बेटी की उड़ान विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। अध्यक्ष मंजू गादिया ने स्वागत किया। मुख्य वक्ता मोटिवेशनल स्पीकर प्रिया सांखला ने कहा कि मां अपनी बेटी की खूबियों को पहचान कर उसे आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित करें। इसके लिए उन्होंने कई टिप्स दिए बच्चों को प्यार से समझाएं। उनपर विश्वास करें। रोचक एक्टिविटी में प्रथम कविता - बर्षा बच्छावत, द्वितीय विनीता- तान्या कोचर तथा तृतीय स्थान पर बरखा -उर्वशी पुगलिया रहीं। जिन्हें मंडल की ओर से पुरस्कृत किया गया। सभी जोडिय़ों को सांत्वना पुरस्कार दिए गए। संचालन संयोजिका संगीता चावत ने किया एवं आभार सरिता छाजेड़ ने जताया।
बेटियों को संस्कारों के साथ सक्षम बनाएं: दुगड़

बेंगलूरु. तेरापंथ महिला मंडल राजाजीनगर के तत्वावधान में तेरापंथ सभा भवन में दो कार्यशाला का आयोजन किया गया। अध्यक्ष उषा चौधरी ने स्वागत करते हुए दोनों कार्यशाला के बारे में जानकारी दी। मुख्य वक्ता नमिता दुगड़ ने बताया कि बेटियों को संस्कार के साथ सक्षम भी बनाना चाहिए और आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित करे और बेटियों को सकारात्मक सोच से उन्नति का दिशाबोध कराएं।

ट्रेंडिंग वीडियो