कोविड के 55.74 मामले अब भी जांच के अधीन, संक्रमण स्रोत अज्ञात

- इनमें आइएलआइ के 10,133 और एसएआरआइ के 2,074 मरीज भी

 

 

 

By: Nikhil Kumar

Published: 27 Jul 2020, 11:11 PM IST

बेंगलूरु. प्रदेश में 26 जुलाई तक कोरोना के कुल 96,141 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इनमें से 55.74 फीसदी यानी 53,590 मामलों में संक्रमण के कारणों का पता नहीं चल सका है (in 55.74 percent of corona cases infection source is unknown) और इनकी जांच चल रही है। 53,590 मामलों में इन्फ्लूएंजा लाइक इंफेक्शन यानी आइएलआइ (जुकाम, खांसी व बुखार के मरीज) के 10133 और सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन (एसएआरआइ) के 2074 मामले भी हैं। ज्ञात संक्रमण स्रोत के मामलों में 33,671 मरीज देश के अन्य राज्यों से कर्नाटक लौटने के बाद संक्रमित मिले। 738 संक्रमित विदेशों से लौटे, जबकि 8,142 लोग पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए थे।

बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका के अधिकारियों के अनुसार संक्रमण स्रोत का पता लगाना टेढ़ी खीर साबित हो रही है। कोरोना संक्रमण के शुरुआती दिनों में स्रोत की जानकारी जुटाने में इतनी परेशानी नहीं थी क्योंकि बड़ी संख्या में कर्मचारी इस काम में लगे थे। मामले बढऩे के साथ हर मामले की छानबीन मुश्किल हो गई। पर्याप्त संख्या में कर्मचारी उपलब्ध नहीं हैं। हालांकि सरकार संक्रमण का पता लगाने की पुरजोर कोशिश कर रही है। संसाधनों की कमी के कारण यह काम अपेक्षाकृत तेजी से नहीं हो पा रहा है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर गिरिधर आर. बाबू भी इस बात को मानते हैं। उन्होंने कहा कि सीमित मानव संसाधन संक्रमण स्रोत का पता लगाने की क्षमता को प्रभावित करता है। संक्रमण स्रोत का पता लगाने सहित कोरोना वायरस के फैलाव को समझने की जरूरत है नहीं तो आगे और परेशानी होगी।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned