scriptIN-SPACe begins Authorization of Indian Space Start-ups | निजी कंपनियों के द्वार पहुंची इसरो की तकनीक | Patrika News

निजी कंपनियों के द्वार पहुंची इसरो की तकनीक

11 कंपनियों के साथ एन-सिल ने किया है तकनीकी हस्तांतरण समझौता
78 प्रौद्योगिकियां व्यवसायिक उपयोग के लिए एन-सिल हस्तांतरित करने को तैयार
निजी कंपनियों, स्टार्टअप्स को मिलने लगी इसरो की तकनीक

बैंगलोर

Published: July 08, 2022 11:48:47 am

बेंगलूरु.
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों के व्यवसायिक उपयोग के लिए न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (एन-सिल) ने उसे निजी क्षेत्रों को हस्तांतरित करना शुरू कर दिया है।
इसरो ने पिछले दो वर्षों के दौरान व्यवसायीकरण के लिए 78 प्रौद्योगिकियां एन-सिल को थमायी है। अंतरिक्ष कार्यक्रमों में निजी क्षेत्रों को बढ़ावा देने के लिए एन-सिल ये प्रौद्योगिकियां उन्हें हस्तांतरित कर सकती है। हाल ही में इसरो ने एक प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सम्मेलन भी आयोजित किया था जिसमें 36 उद्योगों ने भाग लिया। इस दौरान निजी स्टार्टअप्स के साथ 11 तकनीकी हस्तांतरण समझौते भी हुए। यानी, दशकों के अथक प्रयासों से विकसित इसरो की तकनीक अब निजी कंपनियों को मिलने लगी है। इससे अंतरिक्ष कार्यक्रमों में बड़े बदलाव की उम्मीद की जा रही है।
उपग्रह निर्माण की बुनियादी तकनीक
सूत्रों के मुताबिक इसरो ने जो तकनीकें निजी कंपनियों को प्रदान की है उसमें ‘इंडियन मिनी सैटेलाइट-1 बस’ तकनीक प्रमुख है। दरअसल, यह लघु उपग्रहों (अंतरिक्षयान) का आधारभूत ढांचा है जिसपर विभिन्न वैज्ञानिक पे-लोड समायोजित किए जाते हैं। इस बुनियादी ढांचे का उपयोग कर भू-अवलोकन उपग्रह, समुद्री अध्ययन के लिए उपग्रह, मौसम उपग्रह या वैज्ञानिक प्रयोगों के लिए उपग्रह काफी कम समय में तैयार किए जा सकते हैं। अंतरिक्ष सुधारों के तहत गठित न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड को इसरो तकनीकों के व्यवसायीकरण की जिम्मेदारी दी गई है। एन-सिल ने मार्च महीने में ही तकनीकों के हस्तांतरण के लिए कंपनियों से अभिरुचि प्रस्ताव मांगा था जिसमें कई कंपनियों ने आवेदन दिया।
हर नजरिए से काफी किफायती
तकनीकी हस्तांतरण के लिए तकनीक हासिल करने वाली एक कंपनी के शीर्ष अधिकारी ने बताया कि इसरो की यह तकनीक काफी किफायती है। अगर इस तकनीक के विकास के लिए शून्य से शुरुआत करते तो विकसित करने में जितनी लागत आती उससे भी कम लागत पर ये तकनीक मिल गई। अगर इसे किसी विदेशी एजेंसी से हासिल करते तो पूर्ण तकनीकी हस्तांतरण नहीं होता और लागत भी ज्यादा होती। हालांकि, तकनीकी हस्तांतरण की लागत के बारे में ना तो इसरो और ना ही निजी कंपनियों ने कोई खुलासा किया है।
एक दिन निजी कंपनियों की तकनीक आएगी इसरो के काम: सोमनाथ
इस बीच इसरो अध्यक्ष एस.सोमनाथ ने कहा कि तकनीकी हस्तांतरण से निजी उद्योग इसरो के हाइ-इंड प्रौद्योगिकियों को हासिल कर पाएंगे। समय के साथ इन तकनीकों पर उनकी समझ और गहरी होगी। वे इसे एक नए लेवल पर ले जाएंगे और उन्नत अंतरिक्ष अनुप्रयोगों का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि वह दिन बहुत दूर नहीं है जब इसरो के मिशन में निजी उद्योगों द्वारा विकसित महत्वपूर्ण तकनीकों का उपयोग किया जाएगा। अंतरिक्ष अनुप्रयोगों में इन प्रौद्योगिकियों के उपयोग की असीमित संभावनाएं हैं। उन्होंने इसरो प्रौद्योगिकियों को निजी उद्योगों तक पहुंचाने में एन-सिल की भूमिका की सराहना की। इस बीच इसरो के इसरो के विभिन्न केंद्रों ने उन तकनीकों का प्रदर्शन भी किया है जो निकट भविष्य में निजी कंपनियों को हस्तांतरित किया जा सकता है।
isro-2.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर के रामबन में लैंडस्लाइड व बादल फटने से दो लोगों की मौत, हिमाचल के कुल्लू में कई दुकानें बहींVP Jagdeep Dhankhar: 'किसान पुत्र' जगदीप धनखड़ ने ली उपराष्ट्रपति पद की शपथ, झुंंझुनू सहित पूरे राजस्थान में जश्न का माहौलMaharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरममता बनर्जी को एक और झटका, अब पशु तस्करी केस में TMC नेता अनुब्रत मंडल को CBI ने किया गिरफ्तारकाले कारनामों को छिपाने के लिए 'काला जादू' जैसे अंधविश्वासी शब्दों का इस्तेमाल करें बंद, राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशानाखाटूश्यामजी हादसा: श्याम मंदिर कमेटी अध्यक्ष सहित पांच पदाधिकारियों को पुलिस ने हिरासत में लिया, हादसे को लेकर पूछताछ जारीदिल्ली में मास्क पहनना फिर अनिवार्य, जानें नए नियम और पेनालिटी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.