उद्यानों की नगरी से अगस्त माह में रूठे रहे बदरा सितम्बर की शुरुआत से ही मेहरबान हो गए हैं। बीते एक सप्ताह में हर रोज बारिश हो रही है। सूर्यनारायण के अस्ताचल में जाने से पहले ही मेघों की मल्हार शुरू हो जाती है। तस्वीरों के माध्यम से आप भी बूंदों का आनंद लीजिए...

Ad Block is Banned