आइपीपीबी की तीन शाखाओं का उद्घाटन

आइपीपीबी की तीन शाखाओं का उद्घाटन

Shankar Sharma | Publish: Sep, 03 2018 11:21:00 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

भारतीय डाक विभाग द्वारा शुरू की गई इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) की तीन शाखाओं और १५ ***** प्वाइंट का शुभारंभ बेंगलूरु मुख्यालय क्षेत्र के अंतर्गत किया गया।

बेंगलूरु. भारतीय डाक विभाग द्वारा शुरू की गई इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) की तीन शाखाओं और १५ ***** प्वाइंट का शुभारंभ बेंगलूरु मुख्यालय क्षेत्र के अंतर्गत किया गया। बेंगलूरु के टाउन हॉल में आयोजित कार्यक्रम में लोकसभा सदस्य पी.सी. मोहन ने बेंगलूरु शाखा का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर मुख्य महाडाकपाल कर्नाटक परिमंडल डॉ चाल्र्स लोबो, बेंगलूरु मुख्यालय क्षेत्र के महाडाकपाल कर्नल अरविंद वर्मा, भारतीय रिजर्व बैंक के महाप्रबंधक सतवंत सिंह सहोरा आदि उपस्थित थे। डोड्डबालापुर में आइपीपीबी शाखा का शुभारम्भ कर्नाटक विधान परिषद सदस्य लहर सिंह सिरोया ने किया। आइपीपीबी की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए सिरोया ने कहा कि इस सेवा के आरंभ होने से सामाजिक सुरक्षा पेंशन आदि की सेवाओं के लिए तकनीक आधारित बेहतरीन व्यवस्था उपलब्ध हो गई है। अब बैंकिंग सेवाओं के लिए लोगों को बैंक नहीं जाना पड़ेगा बल्कि स्वयं डाकिया उनके घर पर आकर बैंकिंग सुविधा प्रदान करेगा।

इस अवसर पर सहायक महाडाकपाल (स्टाफ) वी.के. मोहन सहि बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। तीसरी शाखा का शुभारंभ रामनगर में डाक अधीक्षक सुरेशमर्ति ने किया। प्रत्येक शाखा के साथ पांच ***** प्वाइंट जुड़े हैं। राज्य के सभी शहरी एवं ग्रामीण डाकघरों को ३१ दिसम्बर तक ***** प्वाइंट से जोड़ा जाएगा। कर्नल अरविंद वर्मा ने बताया कि आइपीपीबी में खाता खोलने के लिए सिर्फ आधार कार्ड और एक मोबाइल नम्बर की आवश्यकता है। लेनदेन तकनीक आधार पर स्वचालित रूप से होंगे, डाकिया घर तक इन सेवाओं को पहुंचाएगा।

कर्मों से मिलते हैं सुख-दुख
बेंगलूरु. डबल रोड स्थित जगद्गुरु उदासीन आश्रम में श्रीमद भागवत कथा में पंडित सुशील शुक्ल ने कहा कि मनुष्य को भगवान कोई दुख-सुख नहीं देते। सुख-दुख अपने कर्मों से ही मिलते है। जितना भगवत कथा का श्रवण करेंगे उतना ही मनुष्य को मोक्ष की प्राप्ति होती है। भागवत मनुष्य को जीवन जीना सिखाती है। इसे सुनना ही नहीं, अपने मन मे उतारना बहुत जरूरी है। आज कलयुग में भगवान की भक्ति का ही ऐसा मार्ग है जो मनुष्य को भवसागर से पार कर सकता है।

जैन युवा संगठन ने शेड निर्माण में दिया अनुदान
बेंगलूरु. जैन युवा संगठन की ओर बुधिहाल, नेलमंगला स्थित चंद्रप्रभ स्वामी जैन गोशाला में शेड निर्माण के लिए अनुदान दिया। अध्यक्ष भरत रांका, रूपचंद कुमट, मुकेश बाबेल, विपुल पोरवाल, सुरेश मांडोत व जैन युवा संगठन सेवा ट्रस्ट के ट्रस्टी राजेंद्र चुतर ने निरीक्षण किया। प्रवीण ओस्तवाल, महेंद्र पोरवाल, नितिन जैन ने धन्यवाद दिया।

Ad Block is Banned