कर्नाटक में गर्मी के साथ बढ़ी बिजली की खपत, प्रतिदिन की मांग 228 मिलियन यूनिट

कर्नाटक में गर्मी के साथ बढ़ी बिजली की खपत, प्रतिदिन की मांग 228 मिलियन यूनिट

Priya Darshan | Publish: May, 17 2019 06:34:25 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

गत वर्ष 2018 में इसी समयावधि के दौरान बिजली की मांग 177 मिलियन यूनिट थी

बेंगलूरु. गर्मी कारण राज्य में बिजली की मांग में लगातार वृद्धि को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने बिजली कटौती के संकेत दिए हैं।

प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक गत वर्ष इसी समयावधि के दौरान बिजली की मांग 177 मिलियन यूनिट थी, जो आज 228 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई है। इस बीच कोयले की आपूर्ति के अभाव में रायचूर, बल्लारी तथा यरमरस ताप ऊर्जा संयंत्रों की कई इकाइयां ठप होने से बिजली उत्पादन में भारी गिरावट हुई हैै। इस कारण से आनेवाले दिनों में बिजली आपूर्ति में कटौती करना अनिवार्य होगा। बिजली की मांग तथा उत्पादन के बीच 30 से 40 लाख मिलियन यूनिट का अंतर है। इसलिए मांग के अनुपात में आपूर्ति संभव नहीं हो रहा है।

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर पेयजल आपूर्ति तथा सिंचाई के लिए न्यूनतम बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। आवश्यकता होने पर पड़ोसी राज्यों से बिजली खरीदने को कहा गया है। लोड शेडिंग को लेकर बिजली आपूर्ति कंपनियों की ओर से कोई अधिकृत सूचना जारी नहीं की गई है, लेकिन राज्य के कई जिलों में घंटों तक बिजली गुल रहती है। इसे अघोषित बिजली कटौती कहा जा रहा है। कर्नाटक ऊर्जा निगम (केपीसी) के अनुसार गर्मी के दिनों में अधिक पनबिजली उत्पादन संभव नहीं है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned