कावेरी जल बहाव क्षेत्र के सभी बांधों में बढ़ी पानी की आवक

कावेरी जल बहाव क्षेत्र के सभी बांधों में बढ़ी पानी की आवक

Shankar Sharma | Publish: Jun, 14 2018 09:14:33 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

कोडुगू जिले के श्रीमंगला, कुट्टी, बीरुनाणी, बालेले, हुडीकेरी, पोन्नंपेट, क्षेत्र में में हो रही भारी बारिश के कारण जिले की कावेरी तथा लक्ष्मणतीर्थ नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है।

बेंगलूरु. कोडुगू जिले के श्रीमंगला, कुट्टी, बीरुनाणी, बालेले, हुडीकेरी, पोन्नंपेट, क्षेत्र में में हो रही भारी बारिश के कारण जिले की कावेरी तथा लक्ष्मणतीर्थ नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। भारी बारिश के कारण कावेरी जलबहाव क्षेत्र के कृष्ण राज सागर (केआरएस), कबिनी, हारंगी तथा हेमावती बांधों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है।

सिंचाई विभाग के मुताबिक गत 5 दिनों में कबिनी जलाशय के जलस्तर में 14 फीट, केआरएस में 8 फीट, हारंगी 6 फीट तथा हेमावती जलाशय में 10 फीट वृद्धि दर्ज हुई है। मंड्या जिले के केआरएस में २२,४७६ क्यूसेक पानी की आवक हो रही है, तो जलाशय से 317 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

इसकी अधिकतम जल भंडारण क्षमता 124.80 फीट है। जलाशय का जलस्तर 8 4.50 फीट तक पहुंच गया है। हारंगी जलाशय में 7,26 0 क्यूसेक पानी की आवक हो रही है तो जलाशय से 30 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसकी अधिकतम जल भंडारण क्षमता 2,859 फीट है। मौजूदा जलस्तर 2,815.28 फीट तक पहुंच गया है।

कबिनी जलाशय में 17 हजार क्यूसेक पानी की आवक हो रही है तो जलाशय से 100 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। अधिकतम जल भंडारण क्षमता 228 4 फीट है, मौजूदा जलस्तर 2,271 फीट है।

हेमावती जलाशय में 29,379 क्यूसेक पानी की आवक हो रही है। 200 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। अधिकतम जलभंडारण क्षमता 2,922 फीट है। मौजूदा जलस्तर 2,880.75 फीट तक पहुंच गया है।

कोडुगू में जनजीवन बेहाल
कोडुगू जिले में हो रही मूसलाधार बारिश के कारण जिले की सभी नदियां उभनाई हुई हैं। विराजपेट में मकुट्टा नदी का पानी सडक़ पर फैले जाने के कारण विराजपेट के रास्ते कर्नाटक से केरल जाने का सडक़ मार्ग बाधित हो गया।

वहीं सैंकड़ों एकड़ में कॉफी, अदरक और सुपारी की फसल को बारिश से नुकसान पहुंचने की संभावना है। जिले में हो रही भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने बुधवार को स्कूल और कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा की थी। पिछले चौबीस घंटों में मडिकेरी में १०२.५५ मिमी, विराजपेट में १७६.३२ मिमी और सोमवारपेट में २९.०८ मिमी बारिश हुई। जिले में औसत १०२.६५ मिमी बारिश हुई।

Ad Block is Banned