इंटरनेट ने दुनिया से जोड़ा अपनो से तोड़ा

धर्मसभा में बोले आचार्य चन्द्रयश सूरीश्वर

बेंगलूरु. सिद्धाचल स्थूलभद्र धाम में आचार्य चंद्रयश सूरीश्वर ने धर्मसभा को सम्बोधित करते कहा कि वर्तमान युग में परिवारों के मध्य अशांति और वैमनस्य बढ़ते जा रहे हैं। परिवार में बड़ों का सम्मान घटता जा रहा है। उनकी सलाह नई पीढ़ी को अच्छी नहीं लगती है। बुजुर्गो की अच्छी और सही सलाह उन्हें पसंद नहीं आती है और संयुक्त परिवार टूटने के मार्ग पर आ जाता है। वर्तमान युग स्वत्रंतता का है।
आचार्य ने कहा कि परिवारों में एक साथ बैठकर सुख दु:ख में भागीदारी करने की प्रवृति सिथिल हो रही है। एक युग था जब परिवार के सारे सदस्य साथ बैठकर समस्याओं पर विचार विमर्श कर हल निकालते थे और प्रसन्नता से रहते थे। परन्तु आज टीवी कंप्यूटर मोबाइल और उसमें भी फेसबुक व्हाट्सअप आदि इतने महत्व पूर्ण हो गए कि भाई-भाई को साथ में बैठने की रुचि नहीं है। फेसबुक पर दुनिया भर के लोगों से जुड़ रहे हैं और परिवार के सदस्यों के साथ बात करने का भी समय नहीं है। उनसे दूरिया बना लेते हैं मनमुटाव कर लेते हैं अलग होना चाहते हैं। यही मानसिकता संयुक्त परिवार को तोड़ रही है। परन्तु एकजुटता की शक्ति हमें पता नहीं है जब आपस में एकता हो तो 10 गाय भी एक शेर पर हावी हो जाती हैं। परिवार कि एकता और संयुक्तता बनाने के लिए परिवार को समय देने का आह्वान किया।

Yogesh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned